Rohit Shekhar की हत्या मामले में पत्नी अपूर्वा को आरोपी बनाया, चार्जशीट दायर

नई दिल्ली । दिवंगत एनडी तिवारी के बेटे Rohit Shekhar की हत्या के मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने साकेत कोर्ट में 518 पन्नों की चार्जशीट फाइल की है। पुलिस ने चार्जशीट में Rohit Shekhar की हत्या के लिए उसकी 35 वर्षीय पत्नी अपूर्वा शुक्ला को आरोपी बनाया है।

पुलिस जांच में पहले भी ये बात सामने आई थी कि अपूर्वा को अपने पति पर शक था कि उसका शादी से अलग एक बच्चा है और इसलिए उसने रोहित की हत्या की योजना बनाई ताकि उसकी जायदाद उस बच्चे को न मिल जाए।

अब पुलिस ने ये दावा भी किया है कि रोहित की पत्नी अपूर्वा अपनी असफल शादी से ऊब चुकी थी और अपने पति के अजीब रवैये बहुत गुस्से में थी। पुलिस का कहना है कि परिवार की खराब होती आर्थिक स्थिति से उसे अपने सपने टूटते नजर आ रहे थे। जांचकर्ताओं ने ये भी पाया कि अपूर्वा ने शादी के कुछ दिन बाद ही रोहित का घर छोड़ दिया था लेकिन बाद में जब दोनों ने आपस में बात की तो वह सबकुछ ठीक होने की आशा में वापस लौट आई थी। हालांकि उनके बीच के मनमुटाव कम नहीं हुए बल्कि और बढ़ते गए।

वारदात की रात घर में मौजूद गवाहों से पूछताछ के अलावा पुलिस ने चार्जशीट में घर में लगे सीसीटीवी की फुटेज और मोबाइल लोकेशन को प्रमुख सबूत के रूप में पेश किया है। सीसीटीवी फुटेज में अपूर्वा वारदात की रात रोहित के कमरे में जाती दिखती है। सूत्रों ने यह भी बताया कि पोस्टमॉर्टम और फॉरेंसिक रिपोर्ट भी पुलिस की थियरी को सही साबित करती है।

रोहित शेखर दिवंगत नेता एनडी तिवारी के बेटे थे जिसे साबित करने के लिए रोहित को 6 साल तक कानूनी लड़ाई लड़नी पड़ी। तब जाकर एनडी तिवारी ने 2012 में डीएनए टेस्ट के लिए अपने खून का सैंपल दिया और 2014 में दिल्ली हाईकोर्ट ने रोहित को तिवारी का बेटा बताया। उस वक्त एनडी तिवारी 88 साल के थे और उन्होंने रोहित की मां उज्ज्वला से शादी भी की।

16 अप्रैल को रोहित अपने डिफेंस कॉलोनी वाले घर में मृत पाया गया था। शुरुआत में पुलिस इसे हार्ट अटैक से मौत मान रही थी लेकिन बाद में जांच आगे बढ़ने पर चार दिन के बाद इस मामले में हत्या का केस दर्ज किया गया। रोहित के शव का पोस्टमॉर्टम 5 डॉक्टरों के पैनल ने किया था और इस नतीजे पर पहुंचे कि रोहित की गला और मुंह दबाकर हत्या की गई थी। रोहित के गले पर भी कुछ निशान मिले थे और उसके नाक से भी खून निकल रहा था। यह केस क्राइम ब्रांच को सौंप दिया गया था जिसने 24 अप्रैल को अपूर्वा को हत्या के आरोप में गिरफ्तार किया था।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »