अनिल शास्त्री ने कहा, सोनिया और राहुल से मिलना तक आसान नहीं

नई दिल्‍ली। कांग्रेस पार्टी में जारी घमासान के जल्द थमने के आसार नजर नहीं आ रहे हैं। ताजा बयान कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अनिल शास्त्री की तरफ से आया है।
अनिल शास्त्री ने कहा, ‘पार्टी नेतृत्व में कुछ कमी है। अलग राज्य से आने वाले नेताओं के लिए सोनिया और राहुल गांधी जैसे वरिष्ठ नेताओं से मिलना आसान नहीं होता है। उन्होंने कहा कि कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जैसे सोनिया गांधी और राहुल गांधी पार्टी नेताओं से मिलना शुरू करते हैं, तो 50 प्रतिशत समस्या हल हो जाएगी।
कांग्रेस नेता अनिल शास्त्री ने मंगलवार को राहुल गांधी या प्रियंका गांधी में से किसी एक को पार्टी का अध्यक्ष बनाए जाने की वकालत की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस का नेतृत्व अगर गांधी परिवार के हाथ में नहीं रहेगा तो पार्टी जीवित नहीं रहेगी, पार्टी को बचाए रखने के लिए अध्यक्ष गांधी परिवार में से ही होना चाहिए। उन्होंने कहा कि अगर सोनिया गांधी अध्यक्ष नहीं रहना चाहती हैं तो राहुल गांधी या प्रियंका गांधी को अध्यक्ष होना चाहिए।
कांग्रेस के वरिष्ठ नेताओं से मिलना आसान नहीं
इस दौरान शास्त्री ने कहा कि कांग्रेस पार्टी के नेतृत्व में कुछ चीजों की कमी है और सबसे महत्वपूर्ण यह है कि पार्टी नेताओं के बीच बैठकें नहीं होती हैं। अगर एक अलग राज्य का कोई पार्टी नेता दिल्ली आता है तो उसके लिए यहां पार्टी के वरिष्ठ नेताओं से मिलना आसान नहीं होता है। ऐसे में अगर कांग्रेस पार्टी के वरिष्ठ नेता जैसे सोनिया गांधी और राहुल गांधी पार्टी नेताओं से मिलना शुरू करते हैं तो 50 प्रतिशत समस्या हल हो जाएगी।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *