अनिल अंबानी की घोषणा: बैंकों को राइट ऑफ नहीं करने होंगे ADAG के कर्जे

नई दिल्ली। रिलायंस अनिल धीरूभाई अंबानी ADAG के चेयरमैन अनिल अंबानी ने कंपनी के कर्जों को लेकर बड़ी बात कही और उसने इससे निपटने के लिए पूरा खाका सबके सामने रखा। एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में अंबानी ने कहा कि वह बैंकों के कर्जों को इक्विटी में नहीं बदलेंगे और पूरा का पूरा कर्ज चुका दिया जाएगा।
अनिल के मुताबिक बैंकों को ADAG को दिए कर्जे राइट ऑफ नहीं करने होंगे। उन्होंने बताया कि कुछ हफ्तों में लेनदारों के मामले सुलझा लिए जाएंगे। कंपनी पर कुल 45,000 करोड़ रुपये का कर्ज घटाकर 6,000 करोड़ रुपये किए जाने की योजना है। इसके लिए वह प्लांड वे में अपने ऐसेट बेचेंगे। अनिल अंबानी का कहना है कि अब उनका कारोबार सिमटकर बिजनस-टु-बिजनस सेगमेंट में आ जाएगा।
अनिल अंबानी ने माना कि पिछले कुछ महीने चुनौतीपूर्ण रहे। उन्होंने बताया कि आरकॉम अपने स्पेक्ट्रम, फाइबर और टावर सब बेचेगा और अंडर-सी (समुद्र के अंदर) कारोबार के लिए बड़े भाई मुकेश अंबानी की कंपनी रिलायंस जियो के साथ जुड़ेगा। ऐसेट सेल की स्ट्रैटिजी का खुलासा करते हुए उन्होंने कहा कि आरकॉम में हिस्सा बेचने के लिए 9 ऑफर्स मिले हैं। कर्ज कम करने के लिए ऐसेट बिक्री की योजना बनाई गई है। अंबानी ने कहा कि ऐसेट बिक्री की पिछली प्रक्रिया 49 दिनों में पूरी कर ली गई थी।
बहरहाल, अनिल अंबानी के इस ऐलान को शेयर बाजार के कारोबार पर काफी सकारात्मक असर पड़ा है। आरकॉम के शेयर 40 प्रतिशत मजबूत हो गए। वहीं बैंकों के लिए आई खुशखबरी की वजह से निफ्टी बैंक में बड़ी उछाल देखी गई और यह 25,700 के पार चला गया।
-एजेंसी