प्रद्युम्न की हत्या से गुस्साए अभिभावकों ने किया नेशनल हाईवे जाम, स्‍कूल की प्रिंसिपल सस्‍पेंड

गुरुग्राम। रायन इंटरनेशनल स्कूल में दूसरी कक्षा में पढ़ने वाले छात्र प्रद्युम्न की हत्या से गुस्साए अभिभावकों ने स्कूल के पास नेशनल हाई-वे को जाम कर दिया है। अभिभावकों की मांग है कि स्कूल प्रबंधन के खिलाफ सख्त कार्यवाही की जाए। वहीं, मृत छात्र के पिता वरुण ठाकुर स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्यवाही की मांग को लेकर अपने वकीलों के साथ पुलिस कमिश्नर ऑफिस पहुंचे हैं। परिजन स्कूल के खिलाफ कड़ी कार्यवाही की मांग पर अड़े हैं। पुलिस कमिश्नर और बच्चे के परिजनों समेत 10 लोगों की एक कमेटी के बीच इसे लेकर बातचीत भी हुई। वरुण ठाकुर के वकील ने कहा है कि स्कूल प्रबंधन के खिलाफ कार्यवाही निश्चित है। उन्होंने बताया कि स्कूल की प्रिंसिपल को सस्पेंड कर दिया गया है।
भोंडसी स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल के बाहर बड़ी तादाद में पुलिसबल को तैनात किया गया है। मृत छात्र प्रद्युम्न की मां ज्योति ने स्कूल प्रबंधन पर गंभीर सवाल उठाए हैं। उन्होंने एक निजी चैनल से बातचीत में पुलिस की जांच पर भी सवाल उठाया। ज्योति ने कहा कि असली गुनहगार कोई और है, जिसे बचाने के लिए कंडक्टर को मोहरा बनाया जा रहा है।
उन्होंने संदेह जताया है कि हो सकता है कि उनके बच्चे ने स्कूल के टॉइलट में स्कूल से जुड़े कुछ लोगों को कुछ गलत करते हुए देख लिया हो, जिसके बाद सच्चाई को दबाने के लिए उसकी हत्या कर दी गई हो। बच्चे की मां ने पूरे मामले की सीबीआई से जांच की मांग करते हुए कहा कि उन्हें पुलिस की जांच पर भरोसा नहीं है। उन्होंने सवाल किया कि जब उनका बच्चा बस से स्कूल जाता ही नहीं था तो बस का कंडक्टर उसे क्यों मारेगा।
स्कूल में लगे सीसीटीवी कैमरे भी बंद हैं। अभिभावकों में स्कूल प्रबंधन के खिलाफ जबरदस्त गुस्सा है। लोग सवाल कर रहे हैं कि आखिर वे किसके भरोसे अपने बच्चों को स्कूल में 8 घंटे के लिए छोड़ें। स्कूल में जब अभिभावकों को भी भीतर घुसने की इजाजत नहीं है तो कंडक्टर भीतर कैसे घुसा।
बता दें कि प्रदुम्न हत्याकांड में पुलिस ने स्कूल बस के कंडक्टर को गिरफ्तार किया है। कंडक्टर अशोक ने अपना गुनाह कबूल कर लिया है। आरोपी ने कहा कि वह हर सजा के लिए तैयार है, उसकी बुद्धि भ्रष्ट हो गई थी। गुरुग्राम पुलिस के डीसीपी ने बताया कि कंडक्टर ने बच्चे के साथ जोर-जबर्दस्ती की कोशिश की थी। जब बच्चे ने अलार्म बजा दिया तो कंडक्टर ने उसकी हत्या कर दी। आरोपी पिछले 6-8 महीने से यहां काम कर रहा था। जब वह टॉइलट में गया तब उसने वहां बच्चे को देखा। उसके पास चाकू भी था।
रायन स्कूल में यह ऐसा पहला वाकया नहीं है। 20 जनवरी 2016 को 6 साल के बच्चे देवांश ककरोरा की दिल्ली के वसंत कुंज स्थित रायन इंटरनेशनल स्कूल में पानी की टंकी में डूबकर मौत हो गई थी। सीसीटीवी फुटेज के मुताबिक थोड़ी देर पहले ही देवांश को ग्राउंड में खेलते देखा गया था। वसंत कुंज नॉर्थ थाने में लापरवाही का केस दर्ज कर लिया गया था। पुलिस ने प्रिंसिपल समेत 4 अन्य लोगों को इस मामले में गिरफ्तार किया था।
-एजेंसी