Ambati Rayudu का गुस्सा उनके टैलेंट को तबाह कर रहा है

नई द‍िल्ली। Ambati Rayudu का आज 33वां जन्मदिन है। भारतीय टीम का ये वो खिलाड़ी है ज‍िसकी कप्तानी में खेले कई युवा टीम इंडिया में आकर छा गए लेकिन उसे मैन इन ब्लू की जर्सी पहनने का मौका बहुत देर से मिला। Ambati Rayudu के गुस्से ने उसके अथाह क्रिकेटिंग टैलेंट को बाहर आने का मौका ही नहीं दिया। जब कुछ बेहतर होने की उम्मीद जगी, उसके गुस्से ने सारे किए-कराए पर पानी फेर दिया। जो खिलाड़ी विराट कोहली, सचिन तेंदुलकर, सौरव गांगुली, रोहित शर्मा, शिखर धवन और एमएस धौनी से भी अच्छे एवरेज से रन बना सकता है वो कुछ भी कर सकता है, लेकिन जब इंसान के दिमाग पर गुस्सा हावी हो जाता है तो सब तबाह हो जाता है।

क्रिकेट के हुनर से भरे इस खिलाड़ी को उनके गुस्से के अलावा कोई और आगे बढ़ने से नहीं रोक सकता था। कहा जाता है न कि प्रतिभा के साथ सामंजस्य बैठना बड़ी उपलब्धि होती है। जो सचिन ने कर दिखाया, धोनी ने किया और विराट फिलहाल इसके ताजा उदाहरण हैं। रायुडू से ये नहीं हो पाया। टीम में जगह नहीं मिलने की निराशा और गुस्से को उन्होंने किसी के साथ बदतमीजी, तो कभी मैदान पर की अभद्रता के चलते टीम से निकाला।

मैदान पर साथी खिलाड़ियों से लेकर बीसीसीआई तक से उलझता रहा और इन सब में उसके क्रिकेट हुनर पर जंग लगती गई, जैसे किसी लोहे पर पेंट की परत न चढ़ाओ, तो जंग उसे खोखला कर देता है। रायुडू के साथ भी यही हो रहा है। वह अपने बेशकिमती हुनर को किसी पोटली में बांधकर विवादों में उलझा है।

अंबाती रायुडू वह खिलाड़ी हैं, जिनकी कप्तानी में सुरेश रैना, इरफान पठान, आरपी सिंह और दिनेश कार्तिक सरीखे खिलाड़ी खेले। भारतीय अंडर-19 की अगुवाई करने वाला यह कप्तान कभी सीनियर टीम में अपनी जगह पक्की नहीं कर पाया। रायुडू से बहुत पहले ही इन खिलाड़ियों को टीम इंडिया में एंट्री मिल गई।

रायुडू में एक दिग्गज खिलाड़ी की छवि दिखी थी साल 2002 में, जब उनकी कप्तानी में इंडिया अंडर-19 की टीम इंग्लैंड टूर पर गई। रायुडू ने सीरीज के एक मैच में 169 गेंदों 177 रन ठोक दिए। भारतीय टीम वह सीरीज 3-0 से जीतकर लौटी थी। रायुडू की 177 रन की धमाकेदार पारी के समय कमेंट्री कर रहे डेविड लॉयड ने कहा था, अगर काउंटी क्रिकेट की टीमें इस खिलाड़ी को अभी खेलते हुए देख रही हैं, तो इसे तुरंत अपनी टीम शामिल कर लें। विश्व स्तर पर ये रायुडू के हुनर की पहली धमक थी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *