AMU Campus में तिरंगा यात्रा पर नोटिस भेजे जाने से छात्र भड़के

मंगलवार को AMU Campus में कुछ छात्रों ने बाइक से तिरंगा यात्रा निकाली थी: AMU के प्रॉक्टर प्रो. मोहसिन खान

अलीगढ़। तिरंगा यात्रा निकाले जाने पर AMU प्रशासन द्वारा नोटिस भेजे जाने पर छात्रों में आक्रोष है। भारतीय जनता पार्टी के विधायक दलवीर सिंह के भांजे को अलीगढ़ मुस्लिम यूनिवर्सिटी ने नोटिस जारी किया है। यह नोटिस उन्हें AMU Campus में बिना अनुमति के तिरंगा यात्रा निकालने के लिए दिया गया है। यूनिवर्सिटी के प्रॉक्टर प्रफेसर मोहसिन खान ने बताया कि मंगलवार को कैंपस में कुछ छात्रों ने बाइक से तिरंगा यात्रा निकाली थी। यह यात्रा पढ़ाई के दौरान और बिना अनुमति के निकाली गई थी। यूनिवर्सिटी प्रशासन ने इसे स्वतः संज्ञान में लिया है। छात्रों की इस यात्रा से यूनिवर्सिटी में चल रही कक्षाओं और कार्य में बाधा आई। यात्रा को अजय सिंह ने लीड किया था उसने छात्रों के आचरण और अनुशासन के खिलाफ कार्य किया है। उन्हें नोटिस जारी करके 24 घंटे के अंदर जवाब देने को कहा गया है। अगर वह जवाब नहीं देते तो उनके खिलाफ सख्त कार्रवाई की जाएगी।

AMU (अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय) एक बार फिर सुर्खियों में हैं हालांकि मामला इस बार थोड़ा अलग है। छात्र नेता अजय सिंह की अगुवाई में AMU कैंपस में तिरंगा यात्रा निकाली गई थी। प्राक्टर ने छात्रों को नोटिस भेज कर जवाब मांगा है और अब इस मामले में सियासत शुरू हो चुकी है। इस मामले में सियासत का तड़का इसलिए भी लगा है क्योंकि एक छात्र का संबंध बीजेपी विधायक दलबीर सिंह से है।

AMU  प्रशासन के इस फैसले पर विधायक दलबीर सिंह का कहना है कि ये दुर्भाग्यपूर्ण है कि एएमयू ने उनके भतीजे को नोटिस भेजा है। उन्हें ऐसा लगता है कि उसने कोई गलत काम नहीं किया है। विश्वविद्यालय कैंपस में हर एक दिन अलग अलग मुद्दों पर रैलियां आयोजित की जाती हैं, एक दफा तो अफजल गुरु के समर्थन में रैली निकाली गई ऐसे में तिरंगा यात्रा निकालना गलत कैसे हो सकता है।

अलीगढ़ से बीजेपी सांसद सतीश गौतम का कहना है कि आखिर तिरंगा यात्रा निकालने में क्या खराबी है। अगर विश्वविद्यालय में तिरंगा यात्रा नहीं निकाली जाएगी तो कहां निकाला जाएगा। विश्वविद्यालय कैंपस में न जाने कितनी गतिविधियां होती हैं लेकिन छात्रों को नोटिस नहीं भेजा जाता है। इस मामले में विश्वविद्यालय प्रशासन ने एकतरफा कार्रवाई की है लेकिन छात्रों को डरने की जरूरत नहीं है। उन्हें प्रशासन और राज्य सरकार से पूरी मदद मिलेगी।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »