एएमयू में CAB का व‍िरोध, हिंदुत्व विरोधी नारेबाजी कर रहे 500 छात्रों पर केस

अलीगढ़। लोकसभा में CAB (नागरिकता संशोधन बिल) पास होने के बाद AMU (अलीगढ़ मुस्लिम विश्वविद्यालय) के छात्रों ने व‍िरोध प्रदर्शन क‍िया और हिंदुत्व और गृहमंत्री के विरोध में नारेबाजी कर मार्च न‍िकाला। हालांक‍ि प्रदर्शन को देखते हुए एएमयू परिसर में सुरक्षाबलों को मुस्तैद किया गया है। इससे पहले कल मंगलवार शाम छात्रों ने शासन-प्रशासन के खिलाफ नारेबाजी की और CAB  की प्रति जलाकर विरोध-प्रदर्शन किया। छात्रों ने मशाल जुलूस निकाला। केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह को मुस्लिम विरोधी करार दिया। इस दौरान पुलिस को बल प्रयोग भी करना पड़ा। धारा 144 का उल्लंघन करने के आरोप में पुलिस ने 20 नामजद समेत 500 छात्रों पर केस दर्ज किया है।

हिंदुत्व मुर्दाबाद के नारे लगे
छात्रों ने मौलाना आजाद लाइब्रेरी से लेकर यूनिवर्सिटी सर्किल तक बिल के विरोध में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री अमित शाह के खिलाफ नारे लगाए। आनन-फानन में फोर्स परिसर में पहुंची। एएमयू को अनुमान था कि जुलूस में दो से तीन सौ छात्र शामिल हो सकते थे। यही लोक इंटेलिजेंस पुलिस को भी थी। बॉबे सैयद पर सिविल लाइंस पुलिस ही अकेली थी। लाइब्रेरी कैंटीन से छात्रों की भीड़ निकली तो सभी के होश-फाख्ता हो गए। पहले उन्हें बॉबे सैयद पर रोकने की कोशिश हुई, लेकिन छात्र नहीं रुके। इसके बाद अधिकारियों को और पुलिसबल भेजने के लिए सूचना दी गई। छात्र तब तक प्रशासनिक भवन को पार कर यूनिवर्सिटी सर्किल तक पहुंच गए।

हजारों की संख्या में नारेबाजी कर रहे थे छात्र

इसके बाद एडीएम सिटी राकेश मालपाणि और एसपी सिटी अभिषेक कुमार अन्य थानों की पुलिस के साथ पहुंच गए। हजारों की संख्या में छात्र जिस तरह नारेबाजी करते आगे बढ़ रहे थे, उसे देखकर लग ही नहीं रहा था कि छात्र रुक पाएंगे। छात्र नेता भी यह भांप गए। उन्होंने कुछ छात्रों की मदद से छात्रों को रोकने के लिए चेन बनाई, तब वह रुके। इसके बाद ही छात्र सर्किल का चक्कर लगाए बगैर ही कैंपस में वापस चले गए। छात्र बुधवार को होने वाली परीक्षाओं को निरस्त करने की मांग कर रहे थे, जिसे इंतजामिया ने अस्वीकार कर दिया। देर रात पुलिस ने सरकारी कार्य में बाधा व शांति भंग की धारा के तहत 20 नामजद समेत 500 छात्रों के खिलाफ मामला दर्ज किया है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *