राजीव एकेडमी की कार्यशाला में Amity के प्रोफेसर ने बांटा अनुभव

मथुरा। राजीव एकेडमी फॉर टेक्नालॉजी एण्ड मैनेजमेंट की एक दिवसीय ‘‘वैल्थ क्रियेशन‘‘ विषयक सारगर्भित कार्यशाला में Amity University के प्रोफेसर डा. अखिल स्वामी ने एमबीए विभाग के छात्र-छात्राओं को संबोधित किया।

Amity University प्रोफेसर डा. अखिल स्वामी बोले- अपने विवेक, भौगोलिक, और क्षेत्रीय परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लें

Amity University के मुख्य वक्ता ने कहा कि जीवन में ज्ञान रुपी अपनी सम्पत्ति को किस प्रकार अर्जित करें। उन्होंने इस सब के लिए इच्छा शक्ति और अथक परिश्रम को आवश्यक बताया। उन्होंने बाजार के तीन स्कैप- लार्जकैप, मिडकैप व स्माल कैप की चर्चा की।

वैल्यू और प्राइस पर उन्होंने विस्तार से चर्चा करते हुए विद्यार्थियों के प्रश्नों का समाधान भी किया। बाजार और शेयर मार्केट के बारे में विश्लेषण करते हुए उन्होंने इनसे सम्बन्धित विधाओं को समझाया। सलाह दी कि आप स्वयं की पर्सनलिटी को समझकर अपना कॅरिअर चुनें इसमें ही सार्थकता है।

मुख्य वक्ता के कार्यशाला के पूर्व संस्थान के निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने माँ शारदा के विग्रह के समक्ष दीप प्रज्ज्वलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ करते हुए डा. अखिल स्वामी का स्वागत किया।

Amity University के प्रोफेसर डा. अखिल स्वामी ने विद्यार्थियों का ज्ञानवर्धन करते हुए कहा कि अपने ज्ञान को बढ़ाना स्वयं की सम्पत्ति को अर्जित करना है जबकि मैनेजमेंट का कोई भी सिद्धान्त स्थाई नहीं है। एक सफल मैनेजमेंटकर्ता को अपने विवेक, भौगोलिक, क्षेत्रीय परिस्थितियों को देखते हुए निर्णय लेना चाहिए। बाजार शास्त्र के यही मानदण्ड हैं।

आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अगवाल बोले- जीवन में नेकनीयती रखते हुए अहंकार से दूर रहें छात्र

उन्होंने छात्र-छात्राओं के साथ बाजार के उतार-चढ़ावों के बारे में विस्तार से विश्लेषण किया। बाजार शास्त्र की चर्चा करते हुए उन्होंने समझाया कि जब वस्तु का भाव अण्डर वैल्यू हो तो उसे खरीदें। इस वस्तु के ओवर वैल्यू होते ही बेच देना चाहिए। मार्केट में दो प्रकार के लोग हैं। पहले वे जो समझते है कि दाम ऊपर जायेंगे, दूसरे वे जो समझते हैं कि दाम घटेंगे। बाजार में हरेक बुद्धिमान व्यक्ति को एक मूर्ख व्यक्ति की आवश्यकता है। इसलिए धन दो प्रकार से कमाया जा सकता है। यदि हमारे पास बाजार सम्बन्धी पर्याप्त ज्ञान और निर्णय लेने का सही तकनीक नहीं है तो हमारे दस में से सात निर्णय गलत होंगे। यदि ज्ञान है तो हमारे सात निर्णय सहीं होंगे। भगवान ने जीवन में उतार-चढ़ाव निश्चित किये हैं। हम यदि बाजार में अहंकार लेकर सम्पत्ति अर्जित करने जाएंगे तो शीघ्र ही नष्ट हो सकते हैं।

उन्होंने कहा कि भगवान मनुष्य के अहंकार का भक्षण करते हैं। जिस प्रकार जीवन में उतार चढाव तय हैं, उसी प्रकार बाजार का ट्रेड साइकल है। इसके लिए हमें अर्थशास्त्र के निवेश के सिद्धान्त को समझना होगा। डा. स्वामी ने कहा कि जब बाजार भाव ऊँचाई पर हो तो बाजार से बाहर हो जाना चाहिए वरना धन डूब जाएगा इसे आप जीवन के सुख दुख की तरह समझे जैसे दुख के बाद सुख और सुख के बाद दुख का आना निश्चित है उसी प्रकार बाजार के उतार-चढ़ाव भी निश्चित हैं। उन्होंने कहा कि सम्पत्ति अर्जित करने के लिए ट्रेड सायकल को समझना जरूरी है।

छात्र-छात्राओं के प्रश्नों का उत्तर देते हुए उन्होंने कहा कि एक अच्छे एमबीए के छात्र को अच्छा प्रबन्धक बनने के लिए ट्रेड सायकल के कन्सेप्ट की गहराई को समझना जरूरी है। चूँकि एमबीए कोर्स स्वयं में एक महत्वपूर्ण कोर्स है। एमबीए के विद्यार्थी को आज के समय में ये पता होना चाहिए कि विश्व के किस कोने में क्या हो रहा है। अर्थात भविष्य को पढ़ने की उसमें पूर्ण क्षमता होनी चाहिए।

उन्होंने विद्यार्थियों को भाषा के बारे में सावधान करते हुए कहा कि आप अपनी मातृ-भाषा में कार्य व्यवहार करें क्योंकि आपके विचारों को आपकी भाषा ही सशक्त रूप से व्यक्त कर सकती है। विद्यार्थियों से कारपोरेट चर्चा में उन्होंने कहा कि एमबीए के विद्यार्थी में आने वाले भविष्य को पढ़ने की शक्ति होनी चाहिए। बाजार के उतार चढ़ाव, वैश्विक तेजी-मन्दी और वैश्विक बाजार की हलचलों से उसे सटीक अनुमान लगाने का आभास होना चाहिए। इस तकनीक में जो विद्यार्थी जितनी तेजी से काम करेगा वह उतना ही अधिक सफल हो सकेगा।

आरके एजुकेशन हब के चैयरमेन डा. रामकिशोर अग्रवाल, वाइस चैयरमेन पंकज अग्रवाल और एमडी मनोज अगवाल ने कहा कि भविष्य में एमबीए के छात्र-छात्राओं को प्रबंधन की बताई इन बारीकियों को अपने में निर्णय में उपयोग करना चाहिए। इससे किसी भी कम्पनी के हक में अच्छे निर्णय सकें। साथ ही अपने जीवन में नेकनीयती रखते हुए अहंकार से दूर रहें। इससे उचित निर्णय से नियोक्ता कम्पनी का भला कर सकोगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »