अमित शाह का सीधा सवाल: राम जन्मभूमि केस की सुनवाई जल्दी कराने के पक्ष में है या नहीं कांग्रेस

नई दिल्‍ली। भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह ने राम मंदिर मुद्दे पर कांग्रेस पर जोरदार हमला बोला है। उन्होंने कहा कि पूरे देश की जनता चाहती है कि रामजन्म भूमि केस की सुनवाई पर फैसला जल्द से जल्द हो लेकिन कांग्रेस के नेता कपिल सिब्बल 2019 के आम चुनाव तक इसकी सुनवाई टालना चाहते हैं इसीलिए उन्होंने सुप्रीम कोर्ट में 2019 लोकसभा चुनाव तक इसकी सुनवाई टालने की बात कही है।
अयोध्या मामले में आज हुई सुनवाई में सुन्नी वक्फ बोर्ड की तरफ से पेश हुए वकील कपिल सिब्बल ने गुजारिश की है कि मामले की सुनवाई 2019 के चुनाव के बाद होनी चाहिए क्योंकि इस मामले पर राजनीति हो सकती है।
आरोप लगाया कि कांग्रेस राम जन्म भूमि केस के रास्ते में रोड़े अटकाना चाहती है और इसीलिए कपिल सिब्बल सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील के रूप में सामने आये हैं, कांग्रेस पार्टी को स्पष्ट करना चाहिए की कांग्रेस राम जन्म भूमि केस की सुनवाई जल्द से जल्द होने के पक्ष में है या नहीं ।
शाह ने आगे कहा कि गुजरात में एक ओर जहां राहुल गांधी के मंदिरों के चुनावी दौरे चल रहें है, और वही दूसरी ओर श्री राम जन्म भूमि केस की सुनवाई को टालने के लिए काबिल सिब्बल का उपयोग किया जा रहा है ।
भाजपा मांग करती है कि जल्दी से जल्दी श्री राम जन्म भूमि केस की सुनवाई होनी चाहिए, सर्वोच्च अदालत का फैसला जल्दी आना चाहिए और वहां पर एक भव्य राम मंदिर बनना चाहिए।
अमित शाह ने ट्वीट किया कि कांग्रेस श्री राम जन्म भूमि केस के रास्ते में रोड़े अटकाना चाहती है इसीलिए कपिल सिब्बल सुन्नी वक्फ बोर्ड के वकील के रूप में सामने आये हैं, कांग्रेस पार्टी को स्पष्ट करना चाहिए की कांग्रेस श्री राम जन्म भूमि केस की सुनवाई जल्द से जल्द होने के पक्ष में है या नहीं।
-एजेंसी