अमित शाह ने कहा, हिंसा के मामले में माकपा से आगे निकल गई टीएमसी

कोलकाता। पश्चिम बंगाल के पुरुलिया बलरामपुर में भाजपा कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो की कथित हत्या के मामले में भाजपा ने टीएमसी पर आरोप लगाया है। घटना पर दुख जताते हुए भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने ट्वीट कर तृणमूल कांग्रेस (टीएमसी) पर निशाना साधा। उन्होंने कहा कि टीएमसी हिंसा के मामले में कम्युनिस्ट पार्टी (मार्क्सवादी) माकपा से आगे निकल गई। इस दुख की घड़ी में हम त्रिलोचन महतो के परिवार के साथ हैं। भाजपा कार्यकर्ताओं का आरोप है कि इस घटना में टीएमसी कार्यकर्ताओं का हाथ है। बुधवार को कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो का शव पेड़ से लटका मिला। पुलिस इस मामले में जांच कर रही है।
ये घटना गुंडागर्दी का उदाहरण: शाह
अमित शाह ने इस घटना की कड़ी निंदा की। उन्होंने ट्वीट कर कहा कि पुरुलिया में हमारे एक काबिल कार्यकर्ता की बेहरमी से हत्या कर दी गई। इस घटना से बहुत आहत हूं। राज्य में दो पार्टियों की रंजिश में एक युवा की जान ले ली गई। उसकी विचारधारा की वजह से कार्यकर्ता की हत्या कर दी गई। ये घटना राज्य में समर्थित गुंडागर्दी का उदाहरण है।
पंचायत चुनाव में थी सक्रिय भूमिका
बंगाल में हाल ही में पंचायत चुनाव हुए। इनमें भाजपा कार्यकर्ता त्रिलोचन महतो काफी सक्रिय रहा था। भाजपा नेताओं का दावा है कि उसकी सक्रियता की वजह से ही हत्या कर दी गई।
पेड़ पर लटके शव के पीछे बांग्ला में एक पोस्टर भी चिपका था। जिस पर लिखा था, ‘यह शख्स पिछले 18 सालों से बीजेपी के लिए काम कर रहा है, पंचायत वोट के बाद से ही तुमको मारने की प्लानिंग चल रही थी लेकिन बार-बार बच कर निकल रहे थे। अब तुम मर चुके हो, भाजपा के लिए काम करने वालों का यही अंजाम होगा’
भाजपा कार्यकर्ताओं ने इस घटना के बाद जमकर हंगामा किया और आरोपी को जल्द पकड़ने की मांग की।
भाजपा के 18 कार्यकर्ताओं की हत्या
भाजपा ने आरोप लगाया कि तृणमूल कांग्रेस ने पश्चिम बंगाल को श्मशान में तब्दील कर दिया है। कैलाश विजयवर्गीय ने आरोप लगया कि पंचायत चुनाव से पहले और बाद में करीब 18 भाजपा कार्यकर्ताओं की हत्या सरकार के इशारे पर की गई है।
हिस्ट्री ऑनर्स का छात्र था त्रिलोचन
त्रिलोचन बलरामपुर कॉलेज में हिस्ट्री ऑनर्स से थर्ड ईयर का छात्र था। मंगलवार शाम वो फोटोकॉपी कराने निकला था। शाम करीब 6 बजे उसने आखिरी बार अपने भाई विवेकानंद को फोन किया था और अपनी जान को खतरा बताते हुए धमकी मिलने की बात कही थी। उसके बाद त्रिलोचन घर नहीं पहुंचा। बुधवार को उसकी लाश पेड़ से लटकी मिली।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »