RSS की समन्वय बैठक में पहुंचे अमित शाह व रामलाल

वृंदावन। संघ परिवार की तीन दिवसीय समन्वय बैठक आज यहां शुरू हो गई जिसमें RSS प्रमुख मोहन भागवत और भाजपा अध्यक्ष अमित शाह सहित भगवा संगठन के शीर्ष नेता भाग ले रहे हैं। भागवत की अध्यक्षता में हो रही बैठक में संघ परिवार के 40 संगठन शामिल हो रहे हैं।

amit-shah reached at vrindavan RSS
RSS की समन्वय बैठक के लिए वृंदावन पहुंचे अमित शाह व रामलाल

वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (RSS) के वरिष्ठ पदाधिकारी भैयाजी जोशी, दत्तात्रेय होसबोले तथा कृष्ण गोपाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ तथा विश्व हिन्दू परिषद के प्रवीण तोगड़िया के इस बैठक में शामिल होने की उम्मीद है।

अमित शाह रामलाल के साथ यहां पहुंचे
केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चाओं के बीच राष्ट्रीय राजधानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद शाह भाजपा के संगठन सचिव रामलाल के साथ यहां पहुंचे.

वित्त मंत्री अरुण जेटली, गृहमंत्री राजनाथ सिंह, राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ (आरएसएस) के वरिष्ठ पदाधिकारी भैयाजी जोशी, दत्तात्रेय होसबोले तथा कृष्ण गोपाल, उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यानाथ तथा विश्व हिन्दू परिषद के प्रवीण तोगड़िया के इस बैठक में शामिल होने की उम्मीद है.

केंद्रीय मंत्रिमंडल में फेरबदल की चर्चाओं के बीच राष्ट्रीय राजधानी में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से मुलाकात के बाद शाह भाजपा के संगठन सचिव रामलाल के साथ यहां पहुंचे।

वृंदावन के केशवधाम में हो रही बैठक के बारे में एक वरिष्ठ पदाधिकारी ने कहा कि इसमें संगठनों के कार्यों की समीक्षा की जाएगी।
पदाधिकारी ने बताया कि बैठक में वाम शासित केरल में आरएसएस के लोगों पर हमले और बलात्कार मामले में गुरमीत राम रहीम की दोषसिद्धि के बाद हाल में हरियाणा में हुई हिंसा जैसे मुद्दों पर भी चर्चा होगी.

यूपी चुनाव के बाद संघ की पहली बड़ी बैठक
उत्तर प्रदेश में इस साल के शुरू में भाजपा के सत्ता में आने के बाद राज्य में आरएसएस की यह पहली बड़ी बैठक होगी. राज्य के कुछ भाजपा नेताओं के भी बैठक में शामिल होने की उम्मीद है.

आरएसएस के प्रचार प्रमुख मनमोहन वैद्य ने बैठक को नियमित बैठक बताया और कहा कि परिवार के सभी संगठन अपने-अपने क्षेत्रों में अपने कार्यों का ब्योरा साझा करेंगे.

2019 की रणनीति

बैठक में भाग लेने के लिए संघ प्रमुख मोहन मधुकर भागवत 29 अगस्त को वृंदावन पहुंच गए। समन्वय बैठक से पूर्व संघ प्रमुख ने आनुषांगिक संगठनों के पदाधिकारियों से रणनीति पर चर्चा की। समय-समय पर विभिन्न मुद्दों को लेकर आनुषांगिक संगठन पार्टी लाइन से हटकर बोलते दिखते हैं, जिससे अक्सर भाजपानीत सरकारों के लिए मुश्किलें खड़ी होती हैं।
बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह सहित आरएसएस की समन्वय बैठक में भाग लेने आज संघ परिवार का पूरा कुनबा मथुरा पहुंच चुका है। संघ से जुड़े सभी संगठनों के राष्ट्रीय अध्यक्ष या संयोजक और संगठन मंत्री को इसमें बुलाया गया है। यानी मोहन भागवत भी होंगे, तो प्रवीण भाई तोगड़िया भी होंगे, अमित शाह भी होंगे तो राम लाल भी होंगे। मुख्य पदाधिकारियों की मीटिंग आज से शुरू होकर तीन सितम्बर तक चलेगी। वृंदावन के केशव धाम में कई बैठकों का दौर चलेगा।

इस बैठक में इन बातों पर चर्चा होगी कि इन संगठनों ने वर्ष भर क्या काम किया, पिछले वर्ष जो लक्ष्य दिया गया था, उसमें कितना कार्य पूरा हुआ और उन्हें क्या परेशानियां पेश आईं। ऐसे में केरल में संघ कार्यकर्ताओं पर हमले और उनकी हत्या की घटनाएं निश्चित तौर पर उठेंगी। इसके अलावा स्वदेशी जागरण मंच चीन से जुड़े विषयों को उठा सकते हैं क्योंकि उन्होंने देश में चीनी वस्तुओं के बहिष्कार का कार्यक्रम आयोजित किया था। RSS की बैठक में सेवा भारती, बनवासी सेवा आश्रम, विहिप, एबीवीपी, किसान संघ, भारतीय मजदूर संघ जैसे संगठन हिस्सा लेंगे।

-एजेंसी