अंडमान के जंगलों में आदिवासियों द्वारा अमेरिकी टूरिस्ट की हत्या

पोर्ट ब्लेयर। अंडमान के जंगलों में एक अमेरिकी टूरिस्ट की हत्या से सनसनी फैल गई है। पुलिस ने इस मामले में हत्या का मुकदमा दर्ज कर इस सिलसिले में 7 लोगों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि अमेरिकी पर्यटक अंडमान घूमने आया था। हालांकि अभी सातों आरोपियों की पहचान सामने नहीं आई है, लेकिन कहा जा रहा है कि ये सभी सेंटिनेलिस जनजातीय समुदाय से हैं। सेंटिनेंल नाम के इस द्वीप पर किसी का भी जाना मना है। पुलिस का कहना है कि वह एक मछुआरे की मदद से गैर-कानूनी ढंग से इस द्वीप पर पहुंचा था। बताया जा रहा है कि टूरिस्ट की हत्या तीर मारकर की गई है।
मारे गए अमेरिकी नागरिक की पहचान जॉन ऐलन चाऊ के रूप में हुई है। अमेरिकी नागरिक का शव उत्तरी सेंटिनल आईलैंड से बरामद हुआ था। शव के बारे में स्थानीय मछुआरों ने पुलिस को सूचना दी थी। सेंटिनल द्वीप में रहने वाली जनजाति काफी खतरनाक मानी जाती है। चेन्नै स्थित अमेरिकी दूतावास की प्रवक्ता ने कहा, ‘अंडमान निकोबार द्वीप पर अमेरिकी नागरिक के मारे जाने की खबर की जानकारी मिली है।’ उन्होंने कहा, ‘हम इस मामले को लेकर स्थानीय अथॉरिटी के सम्पर्क में हैं। गोपनीयता का मामला होने की वजह से इससे ज्यादा जानकारी नहीं दी जा सकती है।’
इस द्वीप पर सिर्फ नाव के जरिए पहुंचा जा सकता है। द्वीप में आज भी 60,000 साल पुराना इंसानी कबीला रहता है। उनका बाहरी दुनिया से कोई संपर्क नहीं है। वहां पहुंचने की कोशिश करने वालों पर कबीला हमला भी करता है। नॉर्थ सेंटिनल आइलैंड पर इस रहस्यमय आदिम जनजाति का आधुनिक युग या इस युग के किसी भी सदस्य से कुछ भी लेना-देना नहीं है। इस जनजाति के लोग ना तो किसी बाहरी व्यक्ति के साथ संपर्क रखते हैं और ना ही किसी को खुद से संपर्क रखने देते हैं।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »