सिद्धारमैया के लिए रोक दी गई गंभीर मरीज को ले जा रही ऐम्बुलेंस

कर्नाटक के मुख्यमंत्री सिद्धारमैया के काफिले की वजह से एक गंभीर मरीज को ले जा रहे ऐम्बुलेंस को रोक दिया गया। इतना ही नहीं मरीज को हॉस्पिटल तक पैदल चलकर जाना पड़ा। यह मामला नागामंगला का है जहां सीएम का काफिला गुजरने वाला था। तभी एक ऐम्बुलेंस को वहां रोक कर मरीज के साथ असंवेदनशील बर्ताव किया गया जिससे मरीज को काफी परेशानी उठानी पड़ी।
मंगलवार को सीएम सिद्धारमैया कनक भवन की नींव का पत्थर रखने के एक समारोह में शामिल होने जा रहे थे। उनका काफिला मांड्या जिले के नागामंगला पहुंचा तभी वहां पर एक महिला मरीज को ले जा रही ऐम्बुलेंस भी आ गई। सुरक्षाकर्मियों ने ट्रैफिक रोक दिया था।
इस दौरान मरीजों के परिजनों से सिक्यॉरिटी गार्ड से अनुरोध किया कि वह पेशंट को हॉस्पिटल ले जा रहे हैं, उनको जाने दें मगर सुरक्षाकर्मियों ने उनकी एक नहीं सुनी और उन पर दबाव बनाया कि वह अपने मरीज को पैदल अस्पताल तक ले जाएं। इसके बाद परिजनों ने किसी तरह से महिला को अस्पताल पहुंचाया।
पेशंट को 300 मीटर पैदल चलना पड़ा
ऐम्बुलेंस से उतरने के बाद महिला मरीज को हॉस्पिटल तक पहुंचने के लिए 300 मीटर की दूरी तय करनी पड़ी। इस दौरान मरीज को काफी परेशानी हुई। सीएम के इस वीवीआईवी ट्रीटमेंट में बरती गई संवेदनहीनता को देखते हुए वहां खड़े लोगों ने मुख्यमंत्री सिद्धारमैया की आलोचना की।
-एजेंसी