योगी आदित्यनाथ से Amar Singh की मुलाकात पर एक बार फिर अटकलें तेज

लखनऊ। प्रधानमंत्री के लखनऊ आगमन से पहले और फरवरी 2018 में हुई इन्वेस्टर्स समिट के बाद कल फिर राजनेता Amar Singh ने उत्‍तरप्रदेश के मुख्‍यमंत्री योगी आदित्‍यनाथ से मुलाकात की। अभीतक राजनैतिक गलियारों में अपनी जोड़-तोड़ के लिए पहचाने जाने वाले राजनेता Amar Singh की इस मुलाकात के बाद उनके भाजपा में शामिल होने की अटकलें तेज हो गयी हैं।

अधिकारिक सूत्रों ने उनकी मुलाकात की पुष्टि की है, हालांकि उनके बीच क्या बातचीत हुयी इसकी जानकारी अभी सामने नहीं आयी है। अमर सिंह समाजवादी पार्टी से राज्यसभा के सांसद थे लेकिन पिछले साल अखिलश यादव की अगुवाई वाले संगठन ने उन्हें निष्कासित कर दिया था।
इसके बाद से ही उनके भगवा दल से जुड़ने के कयास लग रहे हैं। Amar Singh ने हाल ही में कहा था कि वह भाजपा में शामिल होने के खिलाफ नहीं हैं लेकिन उन्हें न तो इसके लिए कोई निमंत्रण मिला है और न ही उन्होंने इसके लिए आवेदन किया है। अमर सिंह के भाजपा के कुछ कद्दावर केंद्रीय नेताओं से भी अच्छे रिश्ते रहे हैं।

इससे पहले भी राजधानी लखनऊ में यूपी इंवेस्टर्स समिट-2018 में अमर सिंह ने हिस्सा लिया था जिसका उद्घाटन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने किया। इस समिट में देश विदेश के कारोबार के दिग्गजों ने हिस्सा लिया लेकिन समिट में आज सांसद अमर सिंह ने हिस्सा लेकर सबको चौंका दिया। अमर सिंह की देश के बड़े कारोबारियों की बीच अच्छी पैठ मानी जाती है।

असल में पिछले लगभग दो साल के दौरान अमर सिंह की भाजपा के साथ नजदीकियां बढ़ी हैं। वह अकसर भाजपा और नरेंद्र मोदी की तारीफ करने से भी नहीं चूकते हैं। गुजरात विधानसभा चुनाव से पहले उन्होंने भाजपा के पक्ष में मतदान करने का बयान भी दिया था। वहीं वह सपा संरक्षक मुलायम सिंह और अध्यक्ष अखिलेश यादव को आरोप लगाकर कठघरे में खड़ा करते रहते हैं।

उद्योग जगत में अमर सिंह के कारोबारियों से करीबी रिश्ते किसी से छिपे नहीं हैं। पूर्व की सपा सरकार के दौरान राज्य में जो भी उद्योग स्थापित हुए थे, उन्हें प्रदेश में लाने का श्रेय अमर सिंह को जाता है। उस वक्त राज्य के मुख्यमंत्री मुलायम सिंह यादव थे और अमर उद्योग परिषद के अध्यक्ष थे। कहा जाता है कि उस वक्त प्रदेश में बगैर अमर सिंह की अनुमति के कोई भी बड़ा फैसला नहीं होता था। जब अखिलेश यादव ने सपा की बागडोर अपने हाथ में ली तो उन्हें अमर सिंह को पार्टी से बाहर का रास्ता दिखा दिया।

बहरहाल अमर सिंह ने पहले इंवेस्टर्स समिट में हिस्सा लेकर फिर कल मुख्‍यमंत्री से मुलाकात कर राजनैतिक गलियारों में हलचल तो मचा ही दी है। इससे एक बात साफ होती है कि पिछले दरवाजे से अमर सिंह और भाजपा में कुछ न कुछ चल रहा है। जाहिर है सरकार की तरफ से अमर सिंह को भी न्योता दिया गया होगा। फरवरी 2018 की इंवेस्टर्स समिट में रिलायंस इंडस्ट्रीज के अध्यक्ष मुकेश अंबानी, आदित्य विक्रम बिड़ला समूह के अध्यक्ष कुमार मंगलम बिड़ला, अडानी समूह के अध्यक्ष गौतम अडानी के साथ महिंद्रा ग्रुप के अध्यक्ष आनंद महिंद्रा, टाटा संस के चेयरमैन एन. चंद्रशेखरन, गौतम अडानी, शिवनडार ने मुख्‍यरूप से अपनी मौजूद रहे थे।
-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »