राहुल गांधी का Congress अध्यक्ष बनना लगभग तय

नई दिल्ली। राहुल गांधी का Congress अध्यक्ष बनना लगभग तय हो गया है। पहले भी कई बार ऐसी अटकलें लगाई गई हैं लेकिन Congress अध्यक्ष सोनिया गांधी के कांग्रेस वर्किंग कमेटी (सीडब्ल्यूसी) की मीटिंग बुलाने के साथ राहुल का अध्यक्ष बनना लगभग तय माना जा रहा है।
सूत्रों का कहना है कि मीटिंग को लेकर अब तक कोई पुख्ता जानकारी नहीं थी लेकिन शनिवार को पार्टी द्वारा सोमवार को मीटिंग बुलाने की जानकारी मिली। हालांकि मीटिंग का मुद्दा अब तक साफ नहीं हो पाया है। वहीं सूत्रों का यह भी कहना है कि पार्टी के पास मीटिंग बुलाने का कोई बड़ा कारण नहीं है, ऐसे में माना जा रहा है कि यह बैठक संगठन के चुनाव को ध्यान में रखते हुए बुलाई गई है।
पार्टी के संविधान के मुताबिक पार्टी अध्यक्ष के चुनाव के लिए शेड्यूल को सीडब्ल्यूसी की मंजूरी मिलना जरूरी है। हालांकि पार्टी में अध्यक्ष पद के लिए राहुल गांधी के सिवा अभी तक कोई नाम सामने नहीं आया है। माना जा रहा है कि गुजरात चुनाव के अपने पीक पर होने के साथ ही राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने का ऐलान भी कर दिया जाएगा।
राहुल गांधी के यह जिम्मेदारी संभालते ही उनकी मां सोनिया गांधी का पार्टी प्रमुख के तौर पर 19 साल का कार्यकाल खत्म हो जाएगा। राहुल गांधी को 2013 में पार्टी का उपाध्यक्ष बनाया गया था। दिसंबर की शुरुआत में राहुल गांधी के अध्यक्ष बनने का मतलब है कि राजनीतिक रूप से महत्वपूर्ण गुजरात चुनाव के फाइनल फेज में होने के साथ ही राहुल गांधी पार्टी के अध्यक्ष होंगे।
गुजरात चुनाव में राहुल गांधी की सक्रियता को देखते हुए इस चुनाव ने ‘मोदी बनाम राहुल’ का रूप ले लिया है। Congress इसी रणनीति के तहत 2019 के लोकसभा चुनाव में राहुल गांधी को पीएम कैंडिडेट के तौर पर पेश कर सकती है। वहीं सूत्रों का कहना है कि अपने पद से हटने के बाद सोनिया गांधी गैर एनडीए दलों के साथ समन्वय का काम देख सकती हैं।
हाल में ही Congress के वरिष्ठ नेता और पार्टी के राष्ट्रीय महासचिव गुलाम नबी आजाद ने कहा था कि राहुल गांधी इसी साल पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की कमान संभालेंगे। उन्होंने कहा पार्टी के भीतर राहुल को राष्ट्रीय अध्यक्ष पद की जिम्मेदारी दिए जाने को लेकर फैसला भी लिया जा चुका है। किसी भी वक्त उन्हें Congress का राष्ट्रीय अध्यक्ष बनाये जाने का ऐलान हो सकता है। पहले Congress नेताओं की तरफ से ऐसे संकेत मिल रहे थे कि दिवाली बाद ही राहुल की ताजपोशी हो जाएगी। हालांकि बाद में यह मामला टलता रहा। फिर ऐसी भी खबरें आईं कि गुजरात और हिमाचल चुनाव के बाद राहुल को अध्यक्ष बनाने की प्रक्रिया पूरी होगी।
अब सोनिया गांधी द्वारा CWC की बैठक बुलाने से इस बात की चर्चा जोरों पर है कि ऐलान गुजरात चुनावों से पहले ही हो जाएगा। वैसे भी इस बात की संभावना कम ही है राहुल गांधी के खिलाफ अध्यक्ष पद पर पार्टी से किसी दूसरे नेता की दावेदारी आए।
-एजेंसी