कांग्रेस का आरोप, ‘मास्टर’ के बयान पढ़ रहे हैं राजस्‍थान के राज्‍यपाल

नई दिल्‍ली। राजस्थान में सियासी संग्राम जोरों पर है और ऐसे में आरोप प्रत्यारोप का सिलसिला भी जारी है। सीएम अशोक गहलोत पहले भी कह चुके हैं कि राज्यपाल सही फैसला नहीं कर रहे हैं।
उन्होंने तो यहां तक कह दिया था कि अगर राज्यपाल अगर उनकी बात नहीं सुनते हैं तो लोग राजभवन का घेराव कर लेंगे।
कांग्रेस ने अब राज्यपाल कलराज मिश्र पर आरोप लगाया है कि वह केंद्र सरकार की ओर से आ रहे सवालों को पेश कर रहे हैं। कांग्रेस नेता अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि राजभवन की तरफ से ‘ मास्टर’ के बयान पढ़े जा रहे हैं।
31 जुलाई से विधानसभा सत्र की मांग
सिंघवी ने कहा कि राज्यपाल ने संवैधानिक पद को आघात पहुंचाया है। बता दें कि शुक्रवार को सीएम अशोक गहलोत अपने समर्थक विधायकों को साथ लेकर राजभवन गए थे। उस समय राज्यपाल ने उनसे कई सवाल किए थे। कांग्रेस ने बताया है कि राजभवन की ओर से जो सवाल उठाए गए थे उनका जवाब दे दिया गया है। अब राज्यपाल को विधानसभा सत्र बुलाना चाहिए। राजस्थान सरकार ने 31 जुलाई से विधानसभा सत्र बुलाने की मांग रखी है। पहले सीएम गहलोत ने सोमवार यानी 27 जुलाई से ही विधानसभा सत्र की मांग की थी।
अभिषेक मनु सिंघवी ने कहा कि राज्यपाल कई बातों से अनिभिज्ञ हैं। उन्होंने कहा, ‘राज्यपाल ने सवाल पूछा था कि कोरोना संकट के दौरान में कौन से राज्य में विधानसभा चल रही है। देश के कई राज्यों में विधानसभाएं चल रही हैं। इनमें पुडुचेरी, महाराष्ट्र और बिहार का नाम शामिल है। राज्यपाल को पता करना चाहिए।’
‘विधायकों की गतिविधि पर सवाल नहीं पूछ सकते राज्यपाल’
सिंघवी ने कहा कि राज्यपाल ने सवाल पूछे और उनकी सक्रियता सराहनीय है लेकिन विधायकों की उपस्थिति और गतिविधि से जुड़े सवाल उनके अधिकार क्षेत्र में नहीं आते हैं। यह मामला पूरी तरह से विधानसभा अध्यक्ष या सचिवालय के तहत आता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *