अर्नब के पक्ष में हिंदी पत्रकार संघ ने राष्ट्रपति को भेजा ज्ञापन

थाणे/महाराष्ट्र। महाराष्ट्र के महानगर मुंबई में निवासरत अर्नब गोस्वामी पत्रकार को सन् 2018 के एक मामले में पुरानी फाइल खोलते हुए अचानक गिरफ्तार किया गया। इसी विषय को लेकर के अखिल भारतीय हिंदी पत्रकार संघ (All India Hindi Journalists Association) के द्वारा भारतवर्ष के प्रत्येक राज्यों एवं जिलों से राष्ट्रपति महामहिम को ज्ञापन भेजा है।

ज्ञापन में मांग की है क‍ि महाराष्ट्र सरकार व सरकार के अधीनस्थ प्रशासनिक अधिकारियों द्वारा अनैतिक व असंवैधानिक रूप से अपनी व्यक्तिगत द्वेष रखते हुए अर्नब गोस्वामी को गिरफ्तार किया है, जोकि देश के चौथे स्तंभ पर बड़ा हमला है कि पत्रकार अर्णब गोस्वामी को तत्काल रिहा करते हुए महाराष्ट्र सरकार व सम्बन्धित प्रशासनिक अधिकारियों पर संवैधानिक नियमो अनुसार कार्यवाही की जाने की मांग की है।

इस विषय में अखिल भारतीय हिंदी पत्रकार संघ के विशेष राष्ट्रीय सदस्य व मध्यप्रदेश के प्रदेश अध्यक्ष शक्ति सिंह चंदेल ने कहा क‍ि विगत कई दिनों से पत्रकार अर्णव गोस्वामी निरंतर अपनी पत्रकारिता का सतत पालन कर रहे हैं और उनकी पत्रकारिता का नतीजा ही है क‍ि सुशांत सिंह मर्डर मिस्ट्री के अंतर्गत नारको टेस्ट के काफी मामले संज्ञान में आए और बडी बड़ी हस्तियों की गिरफ्तारियां हुई।

जिस प्रकार से अर्नब गोस्वामी निरंतर सत्य का साथ देते हुए वर्तमान के भ्रष्ट प्रशासन तंत्र के खिलाफ आवाज उठा रहे हैं उससे तो साफ प्रदर्शित होता है कि ड्रग माफिया, फिल्म माफिया, प्रशासनिक माफिया व राजनैतिक माफियाओं के बीच हड़कंप मच गया है और ये सभी माफिया अपनी करतूतें सामने न आने पाए इस कारण पत्रकार अर्नब गोस्वामी को झूठे मुकदमे मामलों में फसाने का प्रयास कर रहे है। अखिल भारतीय हिंदी पत्रकार संघ ऐसी मंशा को पूर्ण नहीं होने देगा। हमारा संघ अर्नब गोस्वामी सहित सभी राष्टवादी पत्रकारों के साथ खड़ा है और खड़ा रहेगा।
– Legend News

100% LikesVS
0% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *