श्री लंका में बुर्का सहित चेहरा ढकने वाले सभी परिधानों पर प्रतिबंध लगा

ईस्टर के दिन 21 अप्रैल को हुए आतंकवादी हमले के बाद श्री लंका की सरकार ने बुर्का सहित चेहरे को ढकने वाले सभी परिधानों और कपड़ों पर प्रतिबंध लगा दिया है. ईस्टर पर हुए सिलसिलेवार आत्मघाती हमलों में ढाई सौ से अधिक लोग मारे गए थे.
राष्ट्रपति मैत्रिपाल सिरिसेना ने कहा है कि राष्ट्रीय सुरक्षा को देखते हुए ये आपात क़दम उठाया जा रहा है. आज से लागू हो रहे इस प्रतिबंध में हालांंकि मुस्लिम महिलाओं द्वारा पहने जाने वाले नक़ाब या बुर्क़े का ज़िक्र नहीं है. आदेश में कहा गया है कि लोगों के चेहरे पूरी तरह दिखने चाहिए ताकि उनकी पहचान की जा सके.
बीबीसी के अनुसार श्री लंका के प्रधानमंत्री कार्यालय ने एक बयान जारी कर कहा है कि प्रधानमंत्री ने क़ानून मंत्री से इस बारे में एक ड्राफ़्ट तैयार करने के लिए कहा था.
प्रधानमंत्री ने ये भी कहा था कि क़ानून मंत्री श्रीलंका में मुस्लिम धार्मिक गुरुओं की प्रमुख संस्था आईसीजेयू के अधिकारियों से सलाह-मशविरा कर ड्राफ़्ट तैयार किया जाना चाहिए.
ग़ौरतलब है कि आईसीजेयू ने ख़ुद ही एक प्रस्ताव पास कर सरकार से अपील की है कि चेहरे ढकने वाले परिधानों के पहनने पर पाबंदी लगा दी जाए.
इस हमले के लिए कट्टरपंथी इस्लामी संगठन नेशनल तौहीद जमात को ज़िम्मेदार बताया गया है. सरकार के अनुसार श्री लंका हमले को अंजाम देने वाले चरमपंथी ख़ुद को इस्लामिक स्टेट कहने वाले चरमपंथी संगठन से प्रभावित थे. इस्लामिक स्टेट ने इन हमलों की ज़िम्मेदारी क़बूल कर ली है.
ईस्टर के दिन हुए चरमपंथी हमले के बाद श्री लंका की सरकार ने इस तरह के कई क़दम उठाए हैं. राष्ट्रपति ने नेशनल तौहीद जमात और जमियत मिल्लत इब्राहीम जैसे संगठनों पर पाबंदी लगा दी है. इनके सारे दफ़्तर सील कर दिए गए हैं और उनके बैंक अकाउंट फ़्रीज़ कर दिए गए हैं. सरकार कुछ और संगठनों पर पाबंदी लगाने पर विचार कर रही है.
इस बीच रविवार को एक बयान जारी कर श्रीलंकाई पुलिस ने कहा कि आत्मघाती धमाकों के मुख्य संदिग्ध ज़हरान हाशिम के पिता और दो भाई सुरक्षा बलों के एक ऑपरेशन में शुक्रवार को मारे गए थे.
पुलिस के मुताबिक ये माना जा रहा है कि हाशिम की मां भी मारी गई हैं. इन सभी की मौत उस वक़्त हुई जब सुरक्षा बलों ने हमले के संदिग्धों के ठिकानों पर छापे की कार्यवाही की. रिपोर्ट्स के मुताबिक़ हाशिम के पिता और भाई ने धमाके में ख़ुद को उड़ा लिया.
श्री लंका सरकार के मुताबिक़ हाशिम की भी कोलंबो के एक होटल में आत्मघाती हमले में मौत हो गई. ये कहा जाता है कि वो इस्लामिक ग्रुप नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के नेता थे. इस संगठन पर अब प्रतिबंध लगा दिया गया है.
-BBC

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »