दस करोड़ रुपये जमा नहीं कर रहे AKTU से सम्बद्ध यूपी के 328 कॉलेज

लखनऊ। AKTU (डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय) से सम्बद्ध लखनऊ समेत प्रदेश के 328 इंजीनियरिंग, मैनेजमेंट व बीफार्मा कॉलेज परीक्षा शुल्क का दस करोड़ रुपये दबाए बैठे हैं। कई बार नोटिस देने के बाद यह कॉलेज पैसा जमा नहीं कर रहे हैं। वहीं, कॉलेजों की लापरवाही का नतीजा बीटेक प्रथम वर्ष के छात्रों का रिजल्ट अब तक जारी नहीं हो पाया है।

AKTU  (डॉ. एपीजे अब्दुल कलाम प्राविधिक विश्वविद्यालय) से सम्बद्ध इंजीनियरिंग कॉलेजों में प्रवेश लेने वाले प्रथम सेमेस्टर के छात्रों की फीस कॉलेज छात्रों से लेकर AKTU में जमा करता है जबकि द्वितीय, तृतीय व अन्य सेमेस्टर के छात्र प्रवेश परीक्षा की फीस खुद जमा करते हैं। ऐसे में करीब 400 से अधिक इंजीनियरिंग व मैनेजमेंट कॉलेजों ने नव प्रवेशित छात्रों की फीस जमा नहीं की थी।

इसके बाद एकेटीयू के परीक्षा विभाग ने 18 हजार छात्रों का रिजल्ट रोक दिया था, इसके बाद कुछ कॉलेजों ने तो फीस जमा कर दी लेकिन अब भी 328 कॉलेजों ने छात्रों का परीक्षा शुल्क जमा नहीं किया है। ऐसे में अभी भी 13 हजार छात्रों का रिजल्ट रुका हुआ है।

छात्र ही जमा करते हैं फीस
परीक्षा नियंत्रक प्रो राजीव कुमार ने बताया कि पहले कॉलेज ही छात्रों का परीक्षा शुल्क जमा करते थे। कॉलेज समय पर एकेटीयू में शुल्क जमा नहीं करते थे। इसलिए पिछले साल से नव प्रवेशित छात्रों को छोड़ छात्रों को ही परीक्षा शुल्क जमा करने की अनुमति दी गई। क्योंकि नव प्रवेशित छात्रों को परीक्षा शुल्क कैसे जमा होगा, इसकी जानकारी नहीं होती है। इसलिए कॉलेज ही जमा करता है।

छात्र लगा रहे चक्कर

कॉलेजों की लापरवाही की वजह से छात्र रिजल्ट के लिए कॉलेज व एकेटीयू के चक्कर काट रहे हैं। परीक्षा नियंत्रक प्रो राजीव कुमार बताते हैं कि कॉलेजों को फीस जमा करने के लिए नोटिस जारी की जा चुकी है। कुछ कॉलेजों ने फीस जमा भी कर दी हैं। उनका रिजल्ट जारी कर दिया गया है। इसके बाद 13 हजार छात्रों का रिजल्ट अभी भी रूका हुआ हैं।

यह है बकाया

70 कॉलेजों पर एक हजार से लाख तक
188 कॉलेजों पर एक लाख से पांच लाख तक
140 कॉलेजों पर पांच लाख से दस लाख तक
13 हजार छात्रों का प्रवेश शुल्क बकाया

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »