नोएडा के अक्षय कालरा हत्याकांड में सभी पांचों बदमाश गिरफ्तार, क्रेटा कार बरामद

नोएडा। बीटेक छात्र अक्षय कालरा हत्याकांड मामले में नोएडा पुलिस को बड़ी कामयाबी मिली है। मंगलवार सुबह हुए एनकाउंटर में नोएडा पुलिस की गोली लगने के बाद 5 बदमाशों को गिरफ्तार किया है। बताया जा रहा है कि अक्षय से लूट और हत्या में सभी पांचों बदमाश शामिल थे। इस एनकाउंटर में छात्र अक्षय से लूटी गई क्रेटा कार भी बरामद हुई है। एनकाउंटर सेक्टर-58 कोतवाली क्षेत्र में मंगलवर सुबह हुआ।

बता दें कि तकरीबन ढाई महीने पहले 2 सितंबर को छात्र अक्षय कालरा की घर से कुछ दूरी पर ही क्रेटा लूट कर हत्या कर दी गई थी। इस वारदात को गाजियाबाद के गैंग ने अंजाम दिया था। नोएडा पुलिस की मानें तो मंगलवार सुबह फिर से घटना को अंजाम देने नोएडा आए थे। वहीं, गौतमबुद्धनगर पुलिस कमिश्नर आलोक सिंह की तरफ से मुठभेड़ में शामिल टीम को एक लाख का इनाम देने की घोषणा की गई है। यह भी पता चला है कि वारदात को अंजाम देने के बाद सभी बदमाश कई दिनों तक मेरठ में छिपकर रह रहे थे। सभी बदमाशों की उम्र 20 से 25 के बीच है। पूर्व में भी कई कार लूट की घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं। पहली बार पुलिस के शिकंजे में फंसे हैं।

ये हैं गिरफ्तार 5 बदमाश

कुलदीप उर्फ हैप्पी (कामना अपार्टमेंट वैशाली चौकी थाना कौशांबी जिला गाजियाबाद)
विकास उर्फ विक्की (गाजियाबाद)
सोनू सिंह (संजय कॉलोनी, ओखला दिल्ली)
शमीम शेख (गाजियाबाद)
अजय राठौर (गाजियाबाद)

गौरतलब है कि 2 सितंबर को नोएडा सेक्टर-62 में बीटेक छात्र रहे अक्षय कालरा की हत्या कर क्रेटा कार लूट ली गई थी। नोएडा पुलिस की एक दर्जन से अधिक टीमों को इस केस के पर्दाफाश के लिए लगाया गया था। नोएडा एसटीएफ भी इस केस की छानबीन में जुटी थी। सर्विलांस के जरिए बड़े-बड़े मामले का पर्दाफाश करने वाली प्रदेश की हाइटेक पुलिस को इस मामले में मोबाइल सर्विलांस के जरिए कुठ भी ठाेस सुराग नहीं मिल सका था। इस केस की जांच के लिए कई टीमें काम कर रही थीं। नोएडा पुलिस की टीम हरियाणा में डेरा डाले हुई थी, पुलिस अधिकारी दावा कर रहे थे कि उनके पास कुछ अहम जानकारी मिली है और उम्मीद है कि जल्द केस का पर्दाफाश हो सकेगा।

दरअसल, वारदात के बाद बदमाश कार लेकर सेक्टर-62 गोल चक्कर होते हुए एनएच 9 के रास्ते गाजियाबाद की तरफ फरार हुए थे। सेक्टर-62 स्थित सोसायटी के पास से यू टर्न लेकर छिजारसी कट के पास तक कार के जाने की फुटेज जांच में सामने आया था। हालांकि गाजियाबाद से बाहर जाने के लिए किसी टोल से गाड़ी के क्राश होने की बात सामने नहीं आई। इसे देखते हुए पुलिस को आशंका थी कि बदमाश कार को गाजियाबाद में ही कहीं छुपा कर रखे थे, लेकिन बदमाश मेरठ में छिपे हुए थे।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *