अखिलेश यादव की घोषणा: 2019 का लोकसभा चुनाव लडूंगा

लखनऊ। समाजवादी पार्टी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव ने घोषणा की है कि वह आगामी लोकसभा चुनाव लड़ेंगे। उन्होंने कहा, ‘कौन सी सीट मिलेगी यह पार्टी के लोग तय करेंगे लेकिन एक बात साफ कर रहा हूं कि 2019 का चुनाव मैं लडूंगा।’ हालांकि राजनीति के गलियारों में ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि अखिलेश कन्नौज सीट से लोकसभा चुनाव लड़ सकते हैं।
बता दें कि इस सीट से वर्तमान में अखिलेश यादव की पत्नी डिंपल यादव सांसद हैं। अखिलेश इससे पहले भी जनवरी में जनेश्वर मिश्र की पुण्यतिथि के मौके पर कन्नौज से चुनाव लड़ने की इच्छा जाहिर कर चुके हैं। अखिलेश ने आने वाले चुनावों में ईवीएम के बजाय बैलट पेपर का इस्तेमाल होने की मांग की। लखनऊ में प्रेस कॉन्फ्रेंस के दौरान अखिलेश ने कैराना उपचुनाव में ईवीएम की शिकायतों का मामला उठाते हुए कहा, ‘हम चाहते हैं कि आने वाले चुनावों में बैलट पेपर से चुनाव कराए जाएं। इससे लोकतंत्र को मजबूती मिलेगी।’
उन्होंने कहा, ‘कल हुए कैराना उपचुनाव में कई इलाकों में ईवीएम खराब होने की शिकायतें आईं। हम चाहते हैं कि आने वाले चुनाव बैलट पेपर से चुनाव कराए जाएं। बैलट पेपर से चुनाव लोकतंत्र को मजबूती मिलेगी।’ उन्होंने आगे कहा, ‘मुझे उम्मीद है कि जहां ईवीएम खराब हुईं वहां लोगों को दोबारा मतदान करने को मौका मिले।’
‘उन्हीं बूथों की मशीन क्यों खराब हुई जहां बीजेपी को कम वोट मिलने थे’
उन्होंने बीजेपी पर निशाना साधते हुए यह भी कहा कि यह किसी रणनीति के तहत भी किया गया मालूम होता है। उन्होंने कहा, ‘जिस तरह से कल चुनाव में मशीनें खराब हुई हैं इससे लोकतांत्रिक प्रक्रिया पर सवाल खड़ा होता है। जान बूझकर चुनाव प्रभावित करने के लिए ऐसा किया गया है।’ वहीं चुनाव आयोग की गर्मी की वजह से मशीनें खराब होने की बात पर अखिलेश ने कहा कि अगर गर्मी से मशीन खराब हो रही थी तो मशीन सिर्फ उन्हीं बूथों की क्यों खराब हुई जहां बीजेपी को कम वोट मिलने वाले थे।
‘आगे चलकर साइकल पर निर्भर होना पड़ेगा’
अखिलेश ने हैशटैग फिटनेस चैलेंज देने के सवाल पर कहा, ‘मैं सिर्फ यही कह सकता हूं कि हमसे ज्यादा साइकल चलाकर दिखा दो।’ हालांकि उन्होंने बाद में स्पष्ट किया कि वह किसी को कोई चैलेंज नहीं देना चाहते लेकिन जिस तरह डीजल-पेट्रोल के दाम बढ़ रहे हैं उससे आने वाले भविष्य में सबको साइकल पर ही निर्भर होना पड़ेगा।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »