एयरफोर्स ने सरकार को सौंपे बालाकोट में आतंकी ठिकानों पर एयर स्ट्राइक के सबूत

नई दिल्‍ली। पाकिस्तान में घुसकर आतंकी ठिकानों पर भारतीय वायुसेना के हवाई हमले को लेकर कई विपक्षी दल सरकार से प्रूफ मांग रहे हैं। दरअसल, यह पूरा विवाद कुछ अतंर्राष्ट्रीय मीडिया की उन रिपोर्ट्स के बाद शुरू हुआ, जिसमें तस्वीरों के आधार पर दावा किया गया कि एयर स्ट्राइक के बाद भी बिल्डिंग्स खड़ी हैं।
इस बीच पहली बार एयर स्ट्राइक के सबूत के तौर पर 12 तस्वीरें सामने रखी हैं। सीक्रेट एयर फोर्स ऑपरेशन की तस्वीरों के आधार पर बताया है कि हवाई हमले के नुकसान के निशान स्पष्ट तौर पर दिखाई दे रहे हैं।
पिछले 12 घंटों में तैयार की गई रिपोर्ट के मुताबिक भारत ने बालाकोट में भारी तबाही मचाई। तस्वीरों की समीक्षा से भी देखा जा सकता है कि भारतीय मिसाइल ने जैश-ए-मोहम्मद के ट्रेनिंग कैंप की बिल्डिंग्स को तबाह कर दिया था। तस्वीरों से पता चलता है कि भारतीय मिसाइलों से बिल्डिंग्स से कई छेद हुए। रिपोर्ट का दावा है कि जरूरी नहीं है कि बंकर बस्टिंग मिसाइलों के हमले में इमारत पूरी तरह से ध्वस्त हो जाए।
बुधवार को भी नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता फारूक अब्दुल्ला ने सवाल करते हुए कहा, ‘हमने उनके (पाकिस्तान) एक प्लेन को मार गिराया? इस बात का प्रूफ कहां है जो अमित शाह कहते हैं कि 300 लोगों की मौत हो गई है?’
4 ब्लैक स्पॉट
दरअसल, जिस मिसाइल का भारतीय वायुसेना ने इस्तेमाल किया था, वह सीधे बिल्डिंग में लगी है और चार ब्लैक स्पॉट दिखाई देते हैं। रिपोर्ट में पोकरण में इस्तेमाल बंकर बस्टर मिसाइल के पेनेट्रेशन वीडियो को भी दिखाया गया, जिसमें साफ दिखाई देता है कि मिसाइल के लगने के बाद भी बिल्डिंग पूरी तरह से ध्वस्त नहीं होती है।
आपको बता दें कि सैटलाइट तस्वीरों के आधार पर कुछ मीडिया रिपोर्ट्स में दावा किया गया है कि बालाकोट कैंप की इमारतें पहले की तरह ही खड़ी हैं और उन्हें कोई नुकसान नहीं हुआ है। इधर, भारतीय वायुसेना ने साफ कहा है कि उसने अपने टारगेट को पूरी मजबूती से हिट किया है।
स्पाइस 2000 बम से बिल्डिंग डैमेज
रिपोर्ट के मुताबिक जरूरी नहीं है कि ग्लाइड बम बिल्डिंग के सुपर स्ट्रक्चर को ध्वस्त ही करे। हालांकि तस्वीर में बिल्डिंग पूरी तरह से डैमेज दिख रही है। आपको बता दें कि स्पाइस 2000 ग्लाइड बम का भारत ने इस्तेमाल किया था जो स्पेशल तौर पर टारगेट को नष्ट करती है। तस्वीरों में कुछ पेड़ भी नष्ट हुए दिखाई देते हैं।
इजरायल मेड बम
स्पाइस 2000 ग्लाइड बम को इजरायल ने विकसित किया है और इसी का इस्तेमाल भारतीय वायुसेना के मिराज 2000 प्लेन ने पाकिस्तान के आतंकी ठिकानों को ध्वस्त करने के लिए किया था।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »