कृषि कर्जमाफी किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं: नीति आयोग

नई दिल्‍ली। कृषि कर्जमाफी पर जारी बहस के बीच नीति आयोग ने बुधवार को कहा कि ऐसे कदमों से सिर्फ कुछ किसानों को मदद पहुंचेगा, यह किसानों की समस्याओं का समाधान नहीं है।
नीति आयोग के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा है कि मौजूदा सरकार ने किसानों के लिए जितना काम किया है, उतना अब तक किसी भी सरकार ने नहीं किया था।
कृषि कर्जमाफी पर पीएम मोदी को जगाने संबंधी कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के ट्वीट पर NITI के उपाध्यक्ष राजीव कुमार ने कहा कि सरकार हर चीज को देखने के बाद फैसला लेती है।
बता दें कि राहुल गांधी ने ट्वीट किया था कि कांग्रेस ने असम और गुजरात के मुख्यमंत्रियों को नींद से जगा दिया है लेकिन प्रधानमंत्री अभी भी सोए हुए हैं। गांधी ने ट्वीट में लिखा था कि हम प्रधानमंत्री को भी जगाएंगे।
नीति आयोग के उपाध्यक्ष से जब राहुल गांधी के ट्वीट के बारे में पूछा गया तो उन्होंने कहा, ‘मैं क्या कह सकता हूं? यह वैसे ही है जैसे मानो ना मानो मैं ही चैंपियन। सरकार हर चीज को देखने के बाद काम करती है। मैं नहीं समझता कि किसानों के लिए किसी भी सरकार ने कभी भी उतना काम किया है, जितना मौजूदा सरकार कर रही है।’
कुमार ने आगे कहा, ‘स्वामीनाथन आयोग की रिपोर्ट को किसी ने भी स्वीकार नहीं किया, इस सरकार ने स्वीकार किया। इस सरकार ने किसानों को कर्ज बढ़ाकर 10.50 लाख करोड़ तक पहुंचाया। राहुल गांधी की सरकार अपना काम करेगी, दूसरी सरकारें अपना काम करेंगी।’
नीति आयोग के दस्तावेज ‘स्ट्रैटिजी फॉर न्यू इंडिया @ 75’ को बुधवार को जारी करने के बाद एक प्रेस कॉन्फ्रेंस में नीति आयोग के उपाध्यक्ष कुमार ने कहा, ‘कृषि कर्ज माफी कृषि क्षेत्र की समस्याओं का हल नहीं है। यह उपचार न होकर सिर्फ दर्द कम करने वाली एक दवाई है।’
क्यों छिड़ी है कृषि कर्जमाफी पर बहस?
दरअसल, कांग्रेस ने छत्तीसगढ़ और मध्य प्रदेश के विधानसभा चुनाव में किसानों के कर्ज माफ करने का वादा किया था। पार्टी जहां छत्तीसगढ़ में प्रचंड बहुमत से जीती, वहीं मध्य प्रदेश की सत्ता से भी पार्टी का 15 सालों का वनवास खत्म हो गया। वादों पर अमल करते हुए दोनों ही राज्यों के मुख्यमंत्रियों ने किसानों की कर्जमाफी को हरी झंडी दे दी है। इसके बाद कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने मंगलवार को कहा था कि उनकी पार्टी और अन्य विपक्षी दल प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी पर किसानों का कर्ज माफ करने के लिए दबाव बनाएंगे। उन्होंने कहा कि वह सभी किसानों के कर्ज माफ होने तक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को सोने नहीं देंगे। कांग्रेस अध्यक्ष ने कहा कि यदि मोदी सरकार ऐसा नहीं करती है तो 2019 के आम चुनाव के बाद कांग्रेस किसानों का कर्ज माफ करेगी।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »