Air connectivity को लेकर 2 अक्‍तूबर से होगा सत्‍याग्रह

आगरा की Air connectivity और यहां नये सिविल एन्‍कलेव को बनाये जाने के कार्य की नियमित समीक्षा के लिये मंडलायुक्‍त स्‍तर पर एक कमेटी भी शासन के द्वारा गठित की गयी थी। किन्‍तु कई वर्षों से इसकी मीटिंगें नहीं हो रहींं

आगरा। सिविल सोसायटी आगरा महानगर की Air connectivity की जरूरत और इससे संबंधित भावी संभावनाओं के प्रति सरकार का ध्‍यान आकर्षित करने के लिये सत्‍याग्रह करेगी और इसकी शुरूआत 2 अक्‍टूबर को ‘गांधी जयंती’ के अवसर पर सेंट जौंस कॉलेंज से शहीद स्‍मारक तक शांति मार्च निकाल कर करेगी।

यह मार्च पूर्ण शांति के साथ प्रात: 9 बजे से 11 बजे के बीच निकाला जायेगा। इस आयोजन को व्‍यापक बनाये जाने के लिये सामाजिक संगठनों तथा स्‍वयंसेवी ग्रुपों को एकजुट करने का प्रयास भी शुरू किया गया है।

सिकन्‍दरा स्‍थित होटल के एस रॉयल में महानगर के बुद्धिजीवियों की बैठक को संबोधित करते हुए सिविल सोसायटी आगरा के अध्‍यक्ष पार्षद डा. शिरोमणी सिंह ने कहा कि नगर निगम सदन आगरा के नागरिकों की आवाज और इसके द्वारा महानगर की जरूरत के लिये नया सिविल एन्‍कलेव जल्‍दी से जल्‍दी तैयार करने की मांग सरकार से की जा चुकी है।

उन्‍होंने कहा कि आगरा के नागरिकों द्वारा शांतिपूर्ण तरीके से ‘गतिमान एक्‍सप्रेस’ को दिल्‍ली के लिये डाउन रूट पर रवाना होने के वक्‍त रोक कर ज्ञापन भी दिया जा चुका है। उम्‍मीद है कि सरकार जनता की शांतिपूर्ण अभिव्‍यक्‍तियों को समझेगी और स्‍वीकार कर सिविल एन्‍कलेव का जल्‍दी से जल्‍दी निर्माण पूर्ण करवायेगी।

डा संजय चतुर्वेदी ने आगरा की Air connectivity को एक सामयिक जरूरत बताते हुए कहा गया कि यह कोई नई मांग नहीं है। आगरा की Air connectivity और यहां नये सिविल एन्‍कलेव को बनाये जाने के कार्य की नियमित समीक्षा के लिये मंडलायुक्‍त स्‍तर पर एक कमेटी भी शासन के द्वारा गठित की गयी थी। किन्‍तु कई वर्षों से इसकी मीटिंगें नहीं हो रही हैं।
शांतिपूर्ण मार्च के आयोजन के लिये सर्वश्री राकेश चौहान, अतुल गर्ग, गिरधर शर्मा की एक समिति गठित की गयी है।

मीटिंग में तय किया गया कि सभी प्रबुद्धजन अपने अपने स्‍तर पर भी अधिकतम सहभागिता सुनिश्‍चित करने को व्‍यापक जनसंपर्क करेंगे साथ ही जिन संगठनों से वे जुडे हुए हैं, उनकी मीटिंगेां में सिविल एन्‍कलेव और रीजनल एयरकनैक्‍टिविटी की मांग पर चर्चा संभव करवायेंगे।

शिक्षाविद् गिरधर शर्मा ने कहा कि आपसा( ए पी एस ए ) आर्गनाईजेशन जिसके कि वह जनरल सैकेट्री के सदस्‍यों को इस मांग के प्रति सहमत एवं सत्‍याग्रह में सहभागी बनाये जाने का प्रयास किया जायेगा। उन्‍होंने अपने शिक्षण संस्‍थान सेंट ऐंड्रूज ग्रुप इस सत्‍याग्रह का पूर्ण समर्थन करता है और सहभागी भी होगा।

पेरा ब्रिगेड के कर्नल (सेवानिवृत) खान ने कहा कि अब नागरिक उड्डयन लगजरी नहीं आम आदमी की जरूरत है। रेलवे रिजर्वेशन की सीमित संभावनाओं के कारण अब बैंगलूरु, पुणे, मुम्‍बई के लिये तो आम नागरिक क्या स्‍टूडैंट्स तक फ्लाइटों पर ही निर्भर करने को मजबूर हो गये हैं।

Agra Civil Society will conduct Satyagrah from October 2 on Air connectivity
Agra Civil Society will conduct Satyagrah from October 2 on Air connectivity

शिक्षाविद डा. एस.वी.एस चौहान ने कहा कि अवकाश के सीमित अवसर और जीवन की अनिवार्यताओं के सीमित को दृष्‍टिगत अब एयरनकनैक्‍टिविटी एक अहम जरूरत है।

UP-IMA के जर्नल सैकेट्री डा. भदौरिया ने कहा कि उनका संगठन आगरा की एयरकनैक्‍टिविटी बढ़ाये जाने को आम आदमी की जरूरत मानता है और पूरी तरह से साथ है।

शिक्षा क्षेत्र से संबधित अखिल महेश्‍वरी ने कहा कि हमें जनप्रतिनिधियों के साथ सीधा संपर्क करना चाहिये तथा उन्‍हें एयरकनैक्‍टिविटी को लेकर गतिशील होने के लिये प्रेरित करना चाहिये।

पूर्व क्रिकेटर एवं उद्यमी ओम सेठ ने कहा कि आगरा से कहीं कम महत्‍व रखने वाले महानगरों को लेकर तो सरकार चिंतित है वहीं यहां के लिये अब तक केवल जुबानी जमाखर्च कर ही काम चलाया जा रहा है।

श्रीमती भावना जितेन्‍द्र रधुवंशी ने कहा कि एयरकनैक्‍टिविटी कोई अनोखी मांग नहीं है, एक लम्‍बित चली आ रही जरूरत है।

श्रीमती पाटनी ने कहा कि आगरा एक अंतर्राष्‍ट्रीय महत्‍व का महानगर है, राजनैतिक दलों और राजनीतिज्ञों को यहां के लोगों की जरूरत को समझना चाहिये।

श्रीमती डा ज्‍योतिस्‍ना सिंह ने कहा कि आगरा का मामला केवल राजनीति की वजह से उलझ कर रहता आया है, अन्‍यथा निजीतौर पर सभी राजनेता तक मानते हैं कि एयरकनैक्‍टिविटी न होने से कितनी मुश्‍किल होती है। उन्‍होंने सिविल सोसायटी के प्रयासों के साथ एकजुटता व्‍यक्‍त की।

श्रीमती रुनू दत्‍ता ने कहा कि व्‍यापक समर्थन जुटाने का प्रयास ही लक्ष्‍य प्राप्‍ति को सहज बना सकता है, जो लोग अब तक किसी कारण सहयोग नहीं दे सके हैं उनसे भी बात की जानी चाहिये।

मनीष राय, नाट्यकर्मी डिम्‍पी मिश्रा , सूर स्‍मारक मंडल के मंत्री भुवनेश श्रोत्रिय, राजीव सक्‍सेना , श्रवण कुमार, मनोज जैन, हाजी साहिब, श्री कुशवाह आदि ने भी अपने विचार व्‍यक्‍त किये।

आगरा सिविल सोसायटी के जर्नल सैकेट्री अनिल शर्मा ने कहा कि ‘ सबका साथ’ इस समय हमारा भी लक्ष्‍य है ,किन्‍तु दिखावटी तौर पर नहीं वास्‍तविक्‍ता में। उन्‍होंने कहा कि एयरकनैक्‍टिविटी को संभव बनाया जाना को बड़ा मुददा नहीं है बशर्ते हमारे जनप्रतिनिधि इसके लिये सरकार से दू टूक बात करने को तैयार हो जायें । हमें लगता है कि ‘अपने माननीय’ तब तक सक्रिय नहीं होंगे जब तक कि उन्‍हें इस बात का अहसास नहीं हो जाये कि ‘एयर कनैक्‍टिविटी ‘ केवल टूरिज्‍म से जुड़ा मामला नहीं, स्‍टूडैंट्स ,प्रोफैशनल सहित उन सभी से जुडा मुद्दा है जो कि घरों से दूर रहते हैं और छुट्टियों का भी उनके लिये अभाव ही रहता है।

श्री शर्मा ने इस अवसर पर सिविल एन्‍क्लेव के लिये सोसायटी के द्वारा अब तक किये गये प्रयासों की जानकारी भी दी तथा बताया कि जमीन अधिग्रहण संबधी सभी औपचारिकतायें पूरी हो चुकी हैं। अब जमीन का हस्‍तांतरण एयरपोर्ट अथार्टी को होना ही मुख्‍य लम्‍बित औपचारिकता रह गयी है। उन्‍होंने मीटिंग में पधारने के लिये सभी का आभार जताया तथा उम्‍मीद जतायी कि सभी उपस्‍थित जन अपने अपने तरीकों से गांधी जयंती पर एयरकनैक्‍टिविटी को लेकर होने वाले मार्च में अपने अपने तरीकों से सहयोग और सहभागिता करेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »