2 अक्‍टूबर को शांतिपूर्ण रैली निकालेगी आगरा Civil Society

आगरा। ताज सिटी की एयर कनैक्‍टिविटी को अपडेटेड कर मौजूदा परिवेश के अनुसार किये जाने को लेकर आगरा Civil Society 2 अक्‍टूबर को गांधी जयंती केअवसर पर रैली निकाल कर सरकार से सत्‍याग्रह करेगी ।
यह निर्णय Civil Society आगरा की बैठक में लिया गया । सिकन्‍दरा स्‍थित के एस रॉयल होटल में आयोजित Civil Society की मीटिंग में तय किया गया कि यह मार्च पूर्ण रूप से गांधी वादी विचारों केअनुरूप शांतिपूर्ण ढंग से निकाला जायेगा । आगरा की एयर कनैक्‍टविटी में सुधार एक सामायिक जरूरत है जिसे कि राजनेता, आगरा आकर शूटिंग करने वाले अभिनेता तथा ब्‍यूरोक्रेट भी मानते हैं इसलिये नागरिकों का यह आग्रह विशुद्ध एक सत्‍याग्रह है और गांधी जयंती सत्‍याग्रह के लिये सब से उपयुक्‍त अवसर है ।

डा. भीमराव अम्‍बेडकर वि वि की भीमराव अम्‍बेडकर पीठ के अध्‍यक्ष एवं समाजक विज्ञान संस्‍थान के पूर्व निदेशक डा ब्रजेश चन्‍द्रा ने कहा कि बेशक पर्यटन के लिये एयर कनैक्‍टिविटी सबसे अधिक जरूरी है किन्‍तु अब शिक्षा क्षेत्र से जुडे लोगों के लिये भी कम जरूरी नहीं कही जा सकती। आगरा के तमाम छात्र बैगलूर, पुणे मे पढते हैं, वहीं बाहर के विद्याथी आगरा में पढते हैं। उन्‍होंने कहा कि हमे गांधीजयंती पर मुख्‍य रूप से रीजनल एयर कनैक्‍टिविटी पर ही केन्‍द्रित रहना चाहिये।

जालमा इंन्‍सटीट्यूट की पूर्व हिन्‍दी अधिकारी डा मुधु भारद्वाज ने कहा कि आगरा में अनेक अंतर्राष्‍ट्रीय महत्‍व केआयोजन होते रहते हैं,जिनमें भाग लेने के लिये यहां बडी संख्‍या में देश के दूरदराज क्षंत्रों से लोग आते हैं।

श्रीमती रुनू दत्‍ता ने कहा कि रीजनल एयर कनैक्‍टिविटी को बढावा देना भारत सरकार की योजना में शामिल है तो फिर इसका लाभा आगरा को मिलना ही चाहिये । कर्नल खान (सेवानिवृत्‍त)नेकहा कि सत्‍याग्रह को अधिक सेअधिक लोगों तक संदेश पहुंचाने का माध्‍यम बनाया जाना चाहिये ।

श्री दीपक राघव ने कहा कि सरकार को जब तक महा नगर की जरूरतों का अहासा समय समय पर नहीं होगा तब भला उसमें शामिल लोग आगरा के हित में कैसे फैसला लेंगे ।

अतुल गर्ग ने कहा कि एयर कनैक्‍टिविटी केवल उद्यमियों के लिये ही नहीं समाज के हर वर्ग के लिये जश्ररी हो गयी है। इसीलिये सरकार की ओर से इसे बढावा दिया जा रहा है ।

शिक्षा विद डा मुक्‍ता गुप्‍ता ने कहा कि उनका माननाहे कि रीजनल एयरकनैक्‍टिविटी की योजना का लाभा सबसेपहलेआगरा को ही मिलना चाहिये । यह उत्‍तर प्रदेश का अंतर्राष्‍ट्रीय महत्‍व का प्रमुख नगर है।
डा शिल्‍पा दीक्षित शर्मा ने कहा कि यह आगरा के आर्थिक ढांचे से जुडी मांग है, इसे तो अन्‍य सभी संगठनों को भी मिलकर या आपस में तालमेलकर एकजुटता के साथ उठाना चाहिये ।

धनौली -बल्‍हेरा क्षेत्र के किसान नेता निहाल सिंह भोले ने कहा कि जनप्रतिनिधियों को उप्र सरकार से सीधे बात करनी चाहिये, हाल में मंडलायुक्‍त के द्वारा अपने दौरे के समय यह कहना बेहद निराशा जनक रहा कि सरकार के पास सुधिधाजनक सिविल एन्‍कलेव के निर्माण के लिये जमीन खरीद को धन नहीं है।

उन्‍होंने कहा कि आगरा का सिविल एन्‍कलेव उप्र का एकमात्र ऐसा हवाईअड्डा होगा जिससे सरकार को आये में बड़ी मात्रा में विदेशी मुद्रा भी शामिल होगी। उन्‍होंने कहा कि सैफई, कुशी नगर, गोरखपुर जैसे भावी संभावनाओं से शून्‍य के एयरपोर्टों के लिये आगरा से ज्‍यादा धन सरकार ने केवल जमीन खरीदने के लिये दिलवाया है।

सर्वश्री विशाल कुलश्रेष्‍ठ, शिव कुमार कुशवाह, विकास सिंह, ओम सेठ, भुवनेश श्रोत्रिय, राजीव सक्‍सेना आदि ने भी विचार व्‍यक्‍त किये ।

सिविल सोसायटी के जर्नल सैकैट्री अनिल शर्मा ने कहा कि सत्‍याग्रह आयोजन का संदेश व्‍यापक रूपसे प्रचारित किया जायेगा, सिविल सेासायटी के सक्रिय सदस्‍यों ने इसके लिय अभी से काम शुरू कर दिया है। सरकार तक सभी बाते पहुंचे इसके लिये जो भी किया गया है या आगे किया जायेगा उसे प्रशासन को अग्रिम सूचना देकर ही अंजाम दिया जायेगा। उन्‍होंने सोसायटी की ओर से हॉटल के एस रॉयल के प्रबंधन सहित सभी आगंतुकों का आभार जताया तथा कहा कि व्‍यापक सहभागिता सुनिश्‍चित कर शीघ्र ही विस्‍तृत कार्यक्रम घोषित किया जायेगा।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »