ये flight आगरा के हित में नहीं

आगरा। सिविल सोसाइटी ऑफ आगरा RCS के तहत आगरा से इलाहाबाद तक flight के चालू करने के प्रदेश सरकार के निर्णय का स्वागत करती लेकिन यह उड़ान सीधे आगरा व इलाहाबाद के बीच ना होकर वाया लखनऊ हो कर जायेगी, इस पर सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा ने आपत्‍ति जताई है।

सोसायटी ने प्रदेश सरकार पर आरोप लगाते हुए कहा कि उप मुख्यमंत्री नहीं चाहते कि आगरा से flight सुचारू रूप से चले, वे इलाहाबाद flight को वाया लखनऊ चलाना चाहते हैं।

सिविल सोसायटी का कहना है कि आगरा इलाहाबाद डायरेक्ट रूट है, डायरेक्ट फ्लाइट का किराया कम होगा और वाया लखनऊ का किराया जायदा होगा। साथ ही डायरेक्ट फ्लाइट में टाइम भी कम लगेगा। यह इसलिए भी जरूरी है कि आगरा से इलाहाबाद सब से ज्‍यादा लोग हाईकोर्ट में मुकदमे के लिये जाते हैं। सीधी फ्लाइट होने पर वे सुबह जा कर शाम को वापस आ सकते हैं।

RCS फ्लाइट में सब्सिडी मिलती है, यह सब्सिडी आगरा और लखनऊ तक मिलेगी। आगरा के लोगों को महंगा किराया देना होगा। आगरा और लखनऊ के बीच बहुत ट्रैफिक है, लेकिन मुकदमा लड़ने वालोँ के लिये अतरिक्त भार होगा।

यह फ्लाइट सब से जायदा सरकारी babu इस्तेमाल करेंगे जबकि आगरा लखनऊ के बीच एक्सप्रेसवे है। बड़ी विडंबना है कि नेता और बाबू सब अपने हिसाब के लिये सारी फैसिलिटी बनाना चाहते हैं। जब तक इस flight में आम आदमी इस्तेमाल नहीं करेगा, तब तक फ्लाइट मुनाफे नहीं करेगी और ऑपरेटर भाग जायेगा, इस का अंत सिफर होगा।

आज दिल्ली जाने के लिये आगरा से फ्लाइट खजुराहो और बनारस होकर जाती है, इसलिए सफल नहीं है।

सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा इस सोच का विरोध करती है। सिविल सोसाइटी ऑफ़ आगरा में प्रभावी एयरपोर्ट और एयर कनेक्टिविटी चाहती है। तभी आगरा का विकास और एयर कनेक्टिविटी का फायदा मिलेगा। सिविल सोसाइटी का अनुरोध के उप मुख्यमंत्री आगरा के प्रभारी हैं और आगरा के हित में कार्य करें।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »