13 महीनों तक कोर्ट के चक्कर लगाने के बाद A सर्टिफिकेट के साथ पर्दे पर आएगी ‘मोहल्ला अस्सी’

मुंबई। लगभग 13 महीनों तक कोर्ट के चक्कर लगाने के बाद आखिरकार चंद्रप्रकाश द्विवेदी की फिल्म ‘मोहल्ला अस्सी’ A सर्टिफिकेट के साथ पर्दे पर आने के लिए तैयार है। फिल्म में मौजूद गालियों की वजह से सेंसर बोर्ड ने फिल्म को रिलीज की अनुमति नहीं दी थी और कुछ संशोधनों के लिए कहा था। इसके बाद दिल्ली हाई कोर्ट में अर्जी देने के बाद अब फिल्म को A सर्टिफिकेट के साथ रिलीज करने की अनुमति मिल गई है।
हाई कोर्ट ने 11 दिसंबर को सेंसर बोर्ड को फिल्म को सर्टिफिकेट देने के लिए आदेश दिया था। फिल्म के निर्देशक ने बताया कि कोर्ट ने फिल्म में एक भी कट लगाने के लिए नहीं कहा है। बस एक दृश्य, जिसमें सनी देओल गाली दे रहे हैं, उसमें गालियों को म्यूट या डिलीट या बीप साउंड के साथ चलाने के लिए कहा है। फिल्म को होली के मौके पर रिलीज करने की तैयारी है।
बता दें कि ‘मोहल्ला अस्सी’ काशीनाथ सिंह की किताब ‘काशी का अस्सी’ पर आधारित है। इसमें 1990 और 1998 की रामजन्मभूमी विवाद और मंडल कमिशन के सुझावों के बाद की घटनाएं दिखाई गई हैं।
-एजेंसी