राज्यसभा सीट अपनी सहयोगी को देने के बाद Kerala Congress में मचा बवाल

Kerala Congress के सचिव ने दिया इस्तीफा

नई दिल्‍ली। केरल कांग्रेस ने गुरुवार को यह फैसला किया है कि राज्यसभा के उपसभापति पीजे कुरियन के हटने के बाद खाली हुई वहां की एकमात्र राज्यसभा सीट को वह केरल कांग्रेस (मणि) को दे देगी। यह फैसला राज्य में राजनीतिक सहयोगी को जोड़ने की कवायद के तहत किया गया और इस बात की घोषणा नई दिल्ली में कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी के साथ बैठक के बाद पार्टी के सीनियर नेताओं ने की।

राज्य के विपक्षी नेता रमेश चेन्नीथला ने कहा कि यह एक बार की ऐसी व्यवस्था थी ताकि कांग्रेस के नेतृत्व वाले यूनाइटेड डेमोक्रेटिक फ्रंट (यूडीएफ) को मजबूत किया जा सके।

इसके बाद, एक बार फिर से यूडीएफ से दो साल पहले अलग हुई सेंट्रल केरल को मुख्य रूप से प्रतिनिधित्व करनेवाली क्षेत्रीय पार्टी केरल कांग्रेस (मणि) का दोबारा साथ आना तय है। कांग्रेस की पुरानी सहयोगियों में से एक केरल कांग्रेस (एम) 2016 के विधानसभा चुनाव के बाद यूडीएफ से अलग हो गई थी।

इस फैसले के बाद कांग्रेस के पूर्व प्रदेशाध्यक्ष (पीसीसी) वीएम सुधीरन, पीजे कुरियन और यूथ कांग्रेस के राज्य प्रसिडेंट डीन कुरियकोज ने इसे क्षेत्रीय पार्टी के सामने पूरी तरह से सरेंडर करार दिया है। उन्होंने कहा- “यह कदम आत्मघाती है। कैसे पार्टी अपनी सीट का बलिदान कर सकती है? मैं ऐसा नहीं मानता हूं कि इससे यूडीएफ मजबूत होगा।”

Kerala Congress के प्रदेश कांग्रेस समिति के सचिव के. जयंत कुमार ने विरोध करते हुए अपने पद से इस्तीफा दे दिया ह जबकि कई युवा नेताओं ने इसी कदम पर चलने की धमकी दी है।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »