एशियाई खेलों में 36 साल बाद Saina ने कांस्‍य जीतकर एक और रिकॉर्ड बनाया

एशियाई खेलों में Saina से 36 साल पहले व्यक्तिगत स्पर्धा में मेडल सैयद मोदी ने जीता था मेडल

जकार्ता। Saina Nehwal एशियाई खेलों में बैडमिंटन महिला सिंगल्स में कोई मेडल जीतने वाली पहली भारतीय शटलर बन गई हैं। इससे पहले व्यक्तिगत स्पर्धा में मेडल सैयद मोदी ने जीता था मगर यह कारनामा कोई महिला शटलर नहीं कर सकी है।

भारत की स्टार महिला शटलर साइना नेहवाल ने आज सोमवार को 18वें एशियाई खेल में ब्रॉन्ज मेडल जीत लिया। यूं तो साइना को महिला सिंगल्स के पहले सेमीफाइनल में विश्व की नंबर-1 ताई जू यिंग के हाथों सीधे सेटों में 17-21, 14-21 से शिकस्त झेलनी पड़ी बावजूद इसके साइना नेहवाल रिकॉर्ड्स बुक की शान बन गईं।

गौरतलब है कि एशियाई खेलों में 36 साल बाद बैडमिंटन व्यक्तिगत स्पर्धा में किसी खिलाड़ी ने मेडल जीता हे। इससे पहले व्यक्तिगत स्पर्धा में मेडल सैयद मोदी ने जीता था। 1982 एशियाई खेलों में सैयद मोदी ने ब्रॉन्ज मेडल ही जीता था। इस तरह साइना नेहवाल हारने के बावजूद रिकॉर्ड्स बुक में छा गई हैं।

साइना नेहवाल ने की चुनौती सेमीफाइनल मुकाबले में 36 मिनटों में समाप्त हुई। भारतीय शटलर ने पहले गेम में काफी अच्छा खेल दिखाया और ताई को कड़ी टक्कर भी दी। मगर वह अहम मौकों पर अंक गंवा बैठीं और पहले गेम में 17-21 से पीछे रह गईं। बता दें कि साइना नेहवाल और ताइ जू यिंग के बीच इससे पहले 16 मुकाबले खेले गए, जिसमें से भारतीय शटलर के खाते में सिर्फ 5 जीत दर्ज थी, जबकि 11 मुकाबले यिंग ने अपने नाम किए थे।

इसके बाद दूसरे गेम के हाफ टाइम तक मैच रोमांचक हुआ, जहां भारतीय शटलर 10-11 से पिछड़ रहीं थी। यहां से ताई ने साइना को सिर्फ तीन अंक हासिल करने दिए और मुकाबला 21-17 से अपने नाम किया। याद हो कि खराब फॉर्म से जूझ रही साइना नेहवाल ने शुरुआत से एशियाई खेल 2018 में बेहतरीन प्रदर्शन किया। उन्होंने अपने पहले मैच में ईरान की सुरैया अघाजियाघा को सिर्फ 26 मिनट में 21-7, 21-9 से हरा दिया था।

इसके बाद प्री-क्वार्टरफाइनल मुकाबले में भी साइना को मशक्कत नहीं करनी पड़ी और उन्होंने इंडोनेशिया की फितरियानी को सीधे गेम में 21-6 और 21-14 से पराजित किया। क्वार्टरफाइनल में साइना ने थाईलैंड की रतचानोक इंतानोन को सीधे सेटों में 21-18 और 21-16 से हराया था।

बहरहाल यह एशियन गेम्स में सिंगल्स में Saina का पहला मेडल है, यह दोनों खिलाड़ियों के बीच 16वां मुकाबला था। ताई जू यिंग ने इनमें से 11 मुकाबले जीते हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »