अफगानिस्तान: काबुल में फिदायीन हमला, 7 उलेमाओं सहित 14 लोगों की मौत

काबुल। अफगानिस्तान की राजधानी काबुल में सोमवार को हुए एक फिदायीन हमले में 14 लोगों की मौत हो गई। 17 जख्मी हुए हैं। मारे गए लोगों में 7 उलेमा (धार्मिक गुरू) और 4 सुरक्षाकर्मी शामिल थे। बाकी तीन की शिनाख्त नहीं हो पाई। हाल ही में उलेमाओं ने फिदायीन हमलों को इस्लाम के खिलाफ बताते हुए फतवा जारी किया था। माना जा रहा है कि आतंकी इस बात से खफा थे।
टेंट के बाहर हुआ धमाका
न्यूज़ एजेंसी के मुताबिक काबुल के लोया जिरगा में शांति सभा के लिए टेंट लगाए गए थे। इसके लिए करीब 3000 उलेमा जुटे थे। हमला टेंट के बाहर किया गया।
शक था कि इस हमले के पीछे तालिबान का हाथ हो सकता है लेकिन उसने इससे इंकार कर दिया है। किसी अन्य आतंकी संगठन ने अभी इसकी जिम्मेदारी नहीं ली है।
अफगानिस्तान में बढ़े आतंकी हमले
इससे पहले 9 मई काबुल के पुलिस स्टेशनों पर कुछ बंदूकधारियों और आत्मघातियों ने हमले किए थे। इसमें कम से कम 5 लोगों की मौत हुई थी। 20 से ज्यादा जख्मी हुए थे। हक्कानी नेटवर्क और लश्कर-ए-तैयबा ने इन हमलों को अंजाम दिया था।
अफगानिस्तान में बीते कुछ दिनों में आतंकी हमले बढ़े हैं। 6 मई को एक मस्जिद में बने वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर पर हमला हुआ था। इसमें 15 लोगों की मौत हुई थी।
अप्रैल में भी वोटर रजिस्ट्रेशन सेंटर को निशाना बनाकर फिदायीन हमला किया गया था। इसमें 48 लोग मारे गए थे, 112 जख्मी हुए थे।
चुनाव के ऐलान के बाद आतंकी हमलों में तेजी आई
अफगानिस्तान में राष्ट्रपति चुनाव के लिए 4 अप्रैल को वोटर रजिस्ट्रेशन शुरू हुआ था। इसके ऐलान के बाद से ही देशभर आतंकी हमलों में बढ़ोत्तरी हुई है। चुनावों में अड़चन डालने के लिए आतंकी इस काम में लगे अफसरों को भी अगवा कर रहे हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »