अफगानिस्तान: कंधार की शिया मस्जिद में धमाका, 32 लोगों की मौत

काबुल। अफगानिस्तान पर तालिबान के कब्जे के बाद अल्पसंख्यक शिया समुदाय पर हमले बढ़ते जा रहे हैं। शुक्रवार को कंधार की शिया मस्जिद में हुए धमाके में 32 लोगों के मारे जाने की खबर है। धमाके के वक्त सैकड़ों की संख्या में लोग जुमे की नमाज पढ़ने के लिए इकट्ठा हुए थे। ऐसे में मरने वालों की संख्या और ज्यादा बढ़ने का अनुमान है। पिछले शुक्रवार को भी कुंदुज में एक शिया मस्जिद पर आत्मघाती हमला हुआ था। इस हमले में भी 50 से अधिक नमाजी मारे गए थे।
बढ़ सकती है मृतकों की तादाद
टोलो न्यूज ने स्थानीय अधिकारियों के हवाले से बताया है कि यह विस्फोट कंधार शहर के पुलिस डिस्ट्रिक्ट वन (पीडी1) की एक मस्जिद में हुआ। यह मस्जिद बीबी फातिमा मस्जिद या इमाम बरगाह के नाम से प्रसिद्ध है। धमाका नमाज के दौरान हुआ, जब सैकड़ों लोगों की भीड़ मौजूद थी। प्रत्यक्षदर्शियों ने बताया है कि इस धमाके में बड़ी संख्या में लोग हताहत हुए हैं। अभी तक किसी भी समूह ने हमले की जिम्मेदारी नहीं ली है।
हमले की किसी भी गुट ने नहीं ली जिम्मेदारी
कंधार में शिया समुदाय की मस्जिद पर हुए हमले की अभी तक किसी भी संगठन ने जिम्मेदारी नहीं ली है। इसके बावजूद माना जा रहा है कि इस विस्फोट के पीछे अफगानिस्तान में सक्रिय आईएसआईएस खुरसान गुट का हाथ हो सकता है। आईएसआईएस शिया मुस्लिमों का विरोध करता है। इतना ही नहीं, वह हजारा और दूसरे अल्पसंख्यक मुस्लिम समुदायों का भी विरोधी है।
कंदुज मस्जिद हमले की आईएसआईएस ने ली थी जिम्मेदारी
कुंदुज के शिया मस्जिद पर एक हफ्ते पहले हुए हमले की जिम्मेदारी आईएसआईएस ने ली थी। आईएस से जुड़ी अमाक समाचार एजेंसी ने मस्जिद में दोपहर की नमाज के दौरान हुए विस्फोट की घटना के कुछ घंटे बाद इस दावे की जानकारी दी थी। अपने दावे में आईएस ने आत्मघाती हमलावर की पहचान एक उइगर मुस्लिम के तौर पर की और कहा कि हमले में शियाओं और तालिबान दोनों को निशाना बनाया गया जोकि चीन से उइगरों की मांगों को पूरा करने में बाधा बन रहे हैं।
-एजेंसियां

0% LikesVS
100% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *