Meerut के अधिवक्ता हत्याकांड में मुख्य आरोपी नासिर सह‍ित 5 गिरफ्तार

मेरठ। प्रॉपर्टी व‍िवाद में अध‍िवक्ता मुकेश शर्मा हत्याकांड में सभी पांचों आरोप‍ियों को Meerut पुल‍िस ने ग‍िरफ्तार कर पूरी घटना का 6 घंटे के भीतर खुलासा कर द‍िया है। Meerut पुलिस ने शुक्रवार देर रात मेडिकल थानाक्षेत्र में हुई अधिवक्ता मुकेश शर्मा की हत्या का महज छह घंटे में खुलासा कर दिया है। पुलिस के अनुसार मृतक अधिवक्ता के परिजनों की तहरीर के आधार पर प्रॉपर्टी डीलर नासिर, जुबैर, जियाउल हक और नारायण शर्मा समेत पांच पांच लोगों के खिलाफ मुकदमा पंजीकृत किया। इस प्रकरण में कुल पांच अभियुक्त गिरफ्तार कर लिए गए हैं जिनमेंं एक मृत अधिवक्ता का भतीजा ओमकार पुत्र स्वर्गीय लोकेश है।

गौरतलब है क‍ि अधिवक्ता मुकेश ग्राम कमालपुर में रात लगभग सवा नौ बजे खाना खाकर टहल रहे थे कि बदमाशों ने उन्हें गोली मार दी। गोली उनके सिर में लगी। तत्काल उनको आनंद अस्पताल ले जाया गया, जहां उन्हें मृत घोषित कर दिया गया। उधर हत्या के बाद से ही पुलिस इस प्रकरण में जमीन के विवाद को लेकर कड़ियां जोड़नी शुरू की तो सारी कहानी सामने आ गई।

पुलिस के मुताबिक, गोकलपुर निवासी नासिर अली की कमालपुर में ससुराल है। नासिर प्रॉपर्टी डीलिंग का काम करता है। उसने अपने ससुर जुबैर और साले जियाउल हक के साथ मिलकर कमालपुर में जमीन खरीदी।

बताया गया कि अधिवक्ता के भतीजे ओमकार ने अपनी जमीन जुबेर, नौशाद को 50 लाख रुपये में बेची थी। इस भूमि से सटी सरकारी भूमि को भी नासिर ने खरीदी गई जमीन में मिला लिया। करीब 70 बीघा जमीन में नासिर ने प्लॉट काटने शुरू कर दिए। कई मकान भी निर्माणाधीन हैं।

अधिवक्ता मुकेश शर्मा ने इसी जमीन पर आपत्ति लगा दी। अवैध कॉलोनी काटने पर कोर्ट ने संज्ञान लिया। एमडीए ने इस जमीन पर बने निर्माणाधीन मकान ध्वस्त कर दिये। कोर्ट ने कॉलोनी बनने पर रोक लगा दी। करीब एक साल से जमीन बंजर पड़ी है। अधिवक्ता मुकेश शर्मा के कारण उस जमीन पर कब्जा नही कर पा रहे थे।

सबसे पहला आरोपी ओमकार है जिसको अपने पिता की हत्या में अधिवक्ता मुकेश पर शक था, हालांकि उसमें दूसरे लोग नामित थे। दूसरा गिरफ्तार अभियुक्त योगेश पुत्र अजय है, जिसने दोस्ती के कारण ओमकार का साथ दिया।

तीसरा गिरफ्तार अभियुक्त मृतक अधिवक्ता मुकेश का चाचा चेतन है, जिसकी 49 बीघा जमीन पर मृतक अधिवक्ता मुकेश ने कब्जा किया है। उपरोक्त दोनो अपने-अपने कारणों से मुकेश की हत्या योजना बनाकर हत्या का अंजाम दे दिया।
हत्या में उपरोक्त तीनो के अलावा सम्मिलित नौशाद और जुबेर भी गिरफ्तार कर लिए गए हैं, जिन्हें ओंकार ने जमीन बेची थी, लेकिन वे इस पर कब्जा नहीं कर पा रहे थे और इसका कारण मुकेश शर्मा को मानते थे। हालांक‍ि मृतक अधिवक्ता के कथित अवैध संबंधों की बात भी सामने आई है, जिसकी जांच पड़ताल की जा रही है।
– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *