ADR report का खुलासा, 32 क्षेत्रीय दलों की कमाई 321 करोड़ रुपए, सपा सबसे अमीर पार्टी

नई दिल्‍ली। ADR report में खुलासा हुआ है कि देश के 32 क्षेत्रीय राजनीतिक दलों की कुल आय वित्त वर्ष 2016-17 में 321.03 करोड़ रुपए रही और इनमें समाजवादी पार्टी (सपा) 82.76 करोड़ रुपये के साथ सबसे ऊपर रही। यह जानकारी एक गैर सरकारी संगठन की ताजा विश्लेषण रपट में दी गयी है। सपा के बाद तेदेपा और अन्नाद्रमुक का नंबर है। एसोसिएशन फॉर डेमोक्रेटिक रिफॉर्म्स (एडीआर) ने मंगलवार को अपनी रिपोर्ट में यह जानकारी दी। कुल 48 क्षेत्रीय दलों में से 16 दलों की ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है।

ADR report के मुताबिक साल 2016-17 में इन क्षेत्रीय दलों ने 435.48 करोड़ रुपये खर्च किए। इस दौरान इनमें से 17 दलों ने दिखाया कि इस दौरान उनकी ‘व्यय’ नहीं हुई आय 114.45 करोड़ रुपए रही। सपा ने 2016-17 में सबसे अधिक आय (82.76 करोड़) दर्ज की, जो क्षेत्रीय पार्टियों की आय का 25.78 प्रतिशत है। उसके बाद तेलुगु देशम पार्टी यानी तेदेपा (72.92 करोड़ रुपए) और अन्नाद्रमुक (48.88 करोड़ रुपए) का स्थान है। तीनों क्षेत्रीय पार्टियों की कुल आय (204.56 करोड़) 32 क्षेत्रीय दलों की कुल आय का 63.72 फीसदी रही।

जिन 16 क्षेत्रीय दलों की 2016-17 की ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग की वेबसाइट पर उपलब्ध नहीं है, उनमें दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल के नेतृत्व वाली आम आदमी पार्टी (आप), जम्मू एंड कश्मीर नेशनल कॉन्फ्रेंस और बिहार के पूर्व मुख्यमंत्री लालू प्रसाद यादव का राष्ट्रीय जनता दल(राजद) जैसे प्रमुख दल शामिल हैं। विश्लेषण में शामिल किए गए 32 क्षेत्रीय दलों में से 14 ने अपनी आय में 2015-16 की तुलना में गिरावट दर्शायी है, जबकि 13 दलों ने आय में वृद्धि दिखाई है। पांच क्षेत्रीय दलों ने चुनाव आयोग में आयकर रिटर्न (आईटीआर) जमा नहीं किया है। आईटीआर जमा करने वाले 27 क्षेत्रीय दलों की आय 2015-16 में 291.14 करोड़ रुपये से बढ़कर 2016-17 में 316.05 करोड़ रुपये हो गई है।

कुल 17 दलों ने कहा कि 2016-17 के दौरान उनकी आय का एक हिस्सा अभी बचा है जबकि 15 दलों ने अपनी आय से अधिक खर्च किया है। रिपोर्ट के मुताबिक, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन और जनता दल (सेक्युलर) ने विवरण में कहा कि उनकी कुल आय का 87 फीसदी से अधिक हिस्सा खर्च नहीं हो सका है जबकि टीडीपी ने आय का 67 फीसदी हिस्सा खर्च नहीं किया था।

वहीं, द्रमुक ने अपनी घोषित आय से 81.88 करोड़ रुपए अधिक खर्च किए, जबकि सपा ने 64.34 करोड़ रुपए और अन्नाद्रमुक ने 37.89 करोड़ रुपए अधिक खर्च किए। सपा का कुल खर्च इन 32 दलों के कुल खर्च (435.48 करोड़ रुपए) का 33.78 फीसदी रहा।

यह ADR report 32 क्षेत्रीय दलों की आय और व्यय के विश्लेषण पर आधारित है, इन्होंने 2016-17 की ऑडिट रिपोर्ट चुनाव आयोग को सौंपी।

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »