सर्दी-जुकाम से राहत पाने के लिए दवाओं की बजाय अपनाएं नेचुरल तरीका

सर्दी-जुकाम से राहत पाने के लिए आप दवाओं की बजाय नेचुरल तरीका अपना सकते हैं। इससे न सिर्फ आपके पैसे बचेंगे बल्कि नेचुरल तरीकों का कोई साइड-इफेक्ट भी नहीं होता।
आयुर्वेदिक तरीके आवश्यक पोषक तत्व और विटमिन से भरपूर होते हैं जो कि आपकी बॉडी को अंदर से रिकवर करते हैं। हाल ही में मशहूर न्यूट्रिशनिस्ट रुजुता दिवेकर ने अपने इंस्टाग्राम पेज पर खांसी-जुकाम, बंद नाक और गले के इन्फेक्शन के लिए जिस यूजफुल घरेलू उपचार के बारे में बताया है, वह है मिश्री।
इस समय सर्दी का मौसम है और तकरीबन सभी लोग बंद नाक, जुकाम, खांसी और गले के इंन्फेक्शन से परेशान हैं। इसके लिए मौसम को भी जिम्मेदार माना जा सकता है और आपकी फूड हैबिट को भी। ऐसे में हम ढेर सारी दवाएं खाते हैं और कॉमन ऐंटिबायोटिक तो जरूर लेते हैं ताकि खांसी-जुकाम में राहत मिल सके। दवाएं लेने से केवल थोड़ा आराम मिलता है पर जुकाम पूरी तरह से खत्म नहीं होता। कई मामलों में तो दवाएं खत्म हो जाने के बाद इंफेक्शन फिर से हो जाता है। ऐसे में हमें ऐसे उपचार की जरूरत है जो सर्दी-जुकाम को जड़ से खत्म करे।
मिश्री दिलाएगी जुकाम से राहत
यह सुनकर आपको आश्चर्य होगा लेकिन ये सिंपल और टेस्टी मिश्री आपको जुकाम से राहत दिला सकती है। अपनी पोस्ट को शेयर करते हुए रुजुता दिवेकर ने लिखा, ‘गले में खराश, बंद नाक और सब कुछ उल्टा पुल्टा है तो मिश्री ट्राई कीजिए। आयुर्वेद में मिश्री का उपयोग सदियों से होता आ रहा है। मिश्री न केवल आपको सर्दी-जुकाम से राहत दिलाती बल्कि इसके साथ ही साथ आपके इम्यून सिस्टम को भी मजबूती देती है। गायक अपनी आवाज को सुरीला और स्पष्ट रखने के लिए भी मिश्री का सेवन करते हैं। इसके अलावा मिश्री ऐसिडिटी और गैस्ट्रिक में भी फायदेमंद है। जो लोग सोच रहे होंगे की मिश्री मीठी है और इसे नहीं खाना चाहिए, उन्हें बता दें कि मिश्री एक औषधि है, हेल्दी है आपके सेहत के लिए बेहद फायदेमंद भी।’
मिश्री क्यों फायदेमंद है
एक मिथक है जिस पर तकरीबन सभी लोग भरोसा करते हैं और वह ये है कि शुगर हर रूप में नुकसानदेह है। लेकिन ये जानना जरूरी है कि अगर इसे सीमित मात्रा में लिया जाए तो नेचुरल शुगर जैसे मिश्री शरीर के लिए फायदेमंद हो सकती है। आयुर्वेद में इस तथ्य को अच्छी तरह से रखा गया है कि मिश्री आपके इम्युनिटी को मजबूती देती है जिससे आपका शरीर इन्फेक्शन से लड़ पाता है। मिश्री अनरिफाइंड होती है और गन्ने से बनी होती है। जिसके कई हेल्थ बेनिफिट्स हैं और ये पोषक तत्वों से भरपूर है। रेग्युलर प्रॉसेस्ड शुगर की बजाय मिश्री का इस्तेमाल करें। मिश्री शरीर में हीमोग्लॉबिन के स्तर को मेनटेन रखती है जिससे खून का संचार सही तरीके से हो पाता है और अनीमिया से शरीर को बचाती है। मिश्री के सेवन से आप पूरे समय ऊर्जावान महसूस करते हैं। इस तरह से मिश्री केवल माउथ फ्रेशनर नहीं हैं बल्कि अच्छी सेहत का खजाना भी है।
खाने का सही तरीका
– मिश्री से खांसी-जुकाम को दूर करने के लिए इसे सही तरीके से लेना जरूरी है। मिश्री के साथ किचन में मौजूद सामग्रियां जैसे काली मिर्च, घी मिक्स करें। ये सारी सामग्रियां काफी फायदेमंद हैं।
– मिश्री पाउडर के साथ पिसी हुई काली मिर्च और घी को मिक्स करें। रात में डिनर के बाद इस मिश्रण को पी जाएं, इससे आपको सर्दी-जुकाम और बंद नाक में राहत मिलेगी।
– खांसी से राहत पाने के लिए मिश्री पाउडर के साथ हल्का गर्म पानी मिक्स करके पिएं। इससे शरीर में बलगम बाहर निकल जाएगा। -एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »