विधानसभा चुनावों में शिवसेना के सीएम फेस हो सकते हैं Aditya thackeray

मुंबई। शिवसेना निर्माण के करीब 52 साल बाद उद्धव ठाकरे के बेटे और युवा सेना के प्रमुख Aditya thackeray महाराष्ट्र में अक्टूबर में होने जा रहे विधानसभा चुनाव में बतौर शिवसेना प्रत्याशी चुनावी मैदान में उतरने के लिए तैयार हैं।

शिवसेना की तरफ से सीएम फेस हो सकते हैं Aditya thackeray
शिवसेना के एक और पदाधिकारी ने कुछ ऐसे ही संकेत दिए हैं। उन्होंने बताया, ‘इस बार अगर विधानसभा चुनाव में दोनों पार्टियां साथ उतरती हैं तो अब सीएम पद के लिए मौका शिवसेना का है। ऐसे में आदित्य ठाकरे अगर चुनाव लड़ते हैं तो इससे ना सिर्फ पार्टी कार्यकर्ताओं में उत्साह बढ़ेगा बल्कि गठबंधन के पक्ष में रिजल्ट आने पर सीएम पद के लिए उद्धव शिवसेना का उम्मीदवार भी हो सकते हैं।’

Aditya thackerayदेते रहे हैं संकेत, जरूरत पड़ने पर लड़ेंगे चुनाव
पार्टी के एक अन्य पदाधिकारी ने आदित्य के चुनाव लड़ने का संकेत देते हुए कहा, ‘शिवसेना चाहती है कि आदित्य को इस तरह की सीट से लड़ाया जाए, जहां कोई रिस्क ना हो।’ हालांकि अभी आदित्य ठाकरे की तरफ से इस बारे में कोई आधिकारिक टिप्पणी नहीं की गई है। हालांकि वह कई मौकों से यह संकेत देते रहे हैं कि वह ठाकरे परिवार के पहले ऐसे सदस्य होंगे जो चुनावी मैदान में उतरकर जनादेश प्राप्त करने की कोशिश करेगा।

माना जा रहा है कि लोकसभा चुनाव में देशभर में एनडीए की प्रचंड जीत और महाराष्ट्र में शिवसेना-बीजेपी गठबंधन के शानदार प्रदर्शन के बाद 28 साल के आदित्य ने अब चुनाव के जरिए अब सामने से राजनीति में आने का मन बनाया है।

दरअसल, सोमवार को आदित्य के चचेरे भाई और युवा सेना में उनके सहायक वरुण सरदेसाई ने सोशल प्लैटफॉर्म इंस्टाग्राम पर लिखे एक पोस्ट में इस बात के संकेत दिए हैं। वरुण ने लिखा, ‘मिशन 2019 विधानसभा चुनाव के लिए यही सही वक्त है। यही सही मौका है। महाराष्ट्र आपका इंतजार कर रहा है…आदित्य ठाकरे।’ वरुण के इस पोस्ट को आदित्य के मिशन चुनाव से जोड़कर देखा जा रहा है और माना जा रहा है कि यह संकेत है कि शिवसेना परिवार में पहली बार कोई सीधे चुनावी मैदान में उतरने की तैयारी में है।

लोकसभा चुनाव में महाजीत के बाद संसद के सेंट्रल हॉल में जब पीएम मोदी एनडीए सहयोगियों को संबोधित कर रहे थे, आदित्य ठाकरे महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस के ठीक बगल वाली कुर्सी पर बैठे थे। उधर, उद्धव ठाकरे एनडीए सहयोगी पार्टी शिवसेना की तरफ से मंच पर मौजूद थे। ऐसे में सूबे के सीएम के ठीक बगल वाली कुर्सी पर आदित्य के बैठने से भी यह संकेत गया है कि अब ‘जूनियर’ ठाकरे पार्टी में बड़ी भूमिका के लिए भी तैयार हो रहे हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »