ब्लड सर्कुलेशन को बेहतर रखता है अधोमुख वृक्षासन

योग में कुछ आसन ऐसे हैं जो आपके शरीर के आकार और संरचना को बेहतर करने का काम करते हैं। इसी में एक है अधोमुख वृक्षासन। इसका सबसे बड़ा फायदा है कि यह बच्चों की लंबाई बढ़ाने में मदद करता है। इस आसन से गुरुत्वाकर्षण बल से हमारे ऑर्गन बेहतर काम करते हैं। शरीर का ब्लड सर्कुलेशन बेहतर होता है। जैसा कि नाम से ही स्पष्ट है यह वृक्षासन के समान है लेकिन यह अधोमुख यानी उल्टा मुख करके किया जाता है। इसमें पैर ऊपर दोनों हाथ नीचे होते हैं। इस आसन को योगाचार्य अवधेश शर्मा और जिज्ञासा कापरी बता रही हैं।
आयंगर पद्धति प्रकार एक
छत में एक रस्सी बांध लें। इसके बाद पैरों को रस्सी में फंसा लें और उसी के सहारे उल्टे लटक जाएं। हाथों के नीचे फोम का ब्रिक रख लें।
प्रकार दो
हाथों के सहारे उल्टे खड़े हो जाएं और एक पैर को दीवार से सटा लें जबकि दूसरे पैर को हवा में ऊपर उठा लें।
प्रकार तीन
एक तकिया लें। इसे दीवार से थोड़ा दूर रख लें। अब उस तकिए पर कोहनी और सिर रखकर उल्टे खड़े हो जाएं और दोनों पैरों को दीवार के सहारे टिका दें।
वृक्षासन के फायदे
– यह शरीर का ब्लड सर्कुलेशन ठीक करता है और इससे खून भी साफ होता है
– इस आसन को करने से शरीर में एकाग्रता-स्थिरता आती है
– कंधे की मांसपेशियां मजबूत होती हैं
– अंगों में आंतरिक शुद्धि आती है
– अगर बच्चे इस आसन को करते हैं तो उनकी लंबाई बढ़ती है और शारीरिक संरचना बेहतर होती है
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »