यौन उत्पीड़न के आरोपी हॉलीवुड निर्माता हार्वे वाइंस्टीन ने किया सरेंडर

न्यूयॉर्क। हॉलीवुड अभिनेत्रियों के यौन उत्पीड़न के आरोपी निर्माता हार्वे वाइंस्टीन ने शुक्रवार को न्यूयॉर्क पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया। पिछले साल ही उन पर अभिनेत्रियों के साथ-साथ करीब 70 महिलाओं ने रेप और दुर्व्यव्हार के आरोप लगाए थे। इन खुलासों के बाद ही पहले हॉलीवुड और उसके बाद पूरी दुनिया में मी टू अभियान बड़े स्तर पर शुरू हुआ था। इस अभियान के तहत कई महिलाएं सोशल मीडिया पर अपने साथ हुए यौन उत्पीड़न का खुलासा कर चुकी हैं। बता दें कि वाइंस्टीन हॉलीवुड के बड़े प्रोड्यूसर्स में शुमार हैं। वे प्रसिद्ध मीरामैक्स स्टूडियो के सह-संस्थापक भी हैं।
मैनहैटन आपराधिक अदालत में होगी पेशी
वाइंस्टीन पर किस तरह के चार्ज लगाए जाएंगे, इस पर अभी स्थिति साफ नहीं है। हालांकि, माना जा रहा है कि उन पर दो महिलाओं के उत्पीड़न के मामले से जुड़े आरोप दायर किए जाएंगे। वाइंस्टीन दोनों ही महिलाओं से अपने व्यवहार के लिए माफी मांग चुके हैं लेकिन उन्‍होंने बिना-सहमति के सेक्स किए जाने के आरोपों को अस्‍वीकार किया है।
अमेरिकी न्यूज़ वेबसाइट एनबीसी के मुताबिक वाइंस्टीन सुबह 7:30 बजे ही अपनी काली एसयूवी में बैठकर न्यूयॉर्क पुलिस स्टेशन पहुंच गए थे। यहां पहुंचने के बाद ही रिपोर्टर्स और कैमरामैन की भीड़ ने उन्हें घेर लिया। पुलिसकर्मियों ने स्टेशन पर उनके फिंगरप्रिंट और फोटो लिए।
इसके बाद उन्हें मैनहैटन आपराधिक अदालत में पेश किया जाएगा। जहां उन पर लगे आरोपों को औपचारिक तौर पर पेश किया जाएगा। ऐसे कयास लगाए जा रहे हैं कि उन्हें 1 मिलियन डॉलर्स के बॉन्ड पर रिहा किया जाएगा, साथ ही उन्हें पैर में एक एंकल मॉनिटर भी पहनना पड़ेगा।
हार्वे वाइंस्टीन मामले के सामने आने के बाद शुरू हुआ था #MeToo कैंपेन
बता दें कि पिछले साल अक्टूबर में अमेरिकी अखबार न्यूयॉर्क टाइम्स और न्यू यॉर्कर ने अपनी रिपोर्ट में दावा किया था कि करीब 12 महिलाओं ने प्रोड्यूसर हार्वे वाइंस्टीन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया है।
इसके बाद ही वाइंस्टीन के खिलाफ कई चर्चित हॉलीवुड अभिनेत्रियों ने भी आवाज उठाई थी। इनमें ग्वेनेथ पाल्ट्रो, एलिसा मिलानो, रोज मैक्गोवान, एश्ले जड, सलमा हाएक के साथ और भी कई लोग शामिल हैं।
मी टू हैशटैग इस्तेमाल करने वाली सिलेब्रिटीज में एक्ट्रेस एलिसा मिलानो पहली हाई-प्रोफाइल महिला थीं। एलिसा ने हार्वे वाइंस्टीन पर यौन उत्पीड़न का आरोप लगाया था।
इसी के बाद दुनियाभर में मीटू कैंपेन की शुरूआत हुई थी। कई महिलाओं ने सोशल मीडिया पर #MeToo कैंपेन में अपने साथ हुई ज्यादती की कहानी शेयर करने वाले लोग भी शामिल हैं।
-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »