नीरसता दूर करते हैं शैक्षणिक भ्रमणः डा. रामकिशोर अग्रवाल

Academic excursion is important for life : Dr. Ram Kishore Agarwal
नीरसता दूर करते हैं शैक्षणिक भ्रमणः डा. रामकिशोर अग्रवाल

मथुरा। पढ़ाई के साथ-साथ छात्र-छात्राओं का मनोरंजन और अपनी संस्कृति व विरासत को जानना बहुत आवश्यक है, शैक्षणिक भ्रमण से छात्र-छात्राओं की नीरसता दूर होती है और वे तरोताजा मन से जो भी कुछ करते हैं, इसमें उन्हें सफलता मिलती है। वैदिककालीन टूर काफी लम्बे समय के लिए किये जाते थे पर आज के अनुसार टूर भले ही छोटा हो या बड़ा उसका महत्व कम नहीं हुआ है। ऐसे भ्रमण विद्यार्थियों के लिए ज्ञानार्जन की दृष्टि से भी महत्वपूर्ण हैं। यह कहना है आर.के. एजूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल का। गौरतलब है कि राजीव एकेडमी के एमबीए के छात्र-छात्राओं ने अपने शैक्षणिक भ्रमण में नैनीताल (उत्तराखण्ड) की खूबसूरती को करीब से देखा और ज्ञानवर्धक जानकारियां हासिल कीं।

भ्रमण दल की छात्रा प्रियांशी अग्रवाल ने कहा कि ऐसे ऐतिहासिक टूर छात्र जीवन में महत्वपूर्ण हैं। ऐसे शैक्षणिक भ्रमण से छात्र-छात्राओं में किसी समस्या का टीमभावना से हल निकालने का तरीका विकसित होता है, साथ ही वह अपनी भावना को और अधिक प्रभावपूर्ण ढंग से प्रस्तुत करना सीखते हैं।

छात्रा सुरभी मित्तल ने कहा कि शैक्षणिक भ्रमण से हमें वह कुछ सीखने को मिलता है जो महाविद्यालय में नहीं मिलता। लगातार पूरे वर्ष पढ़ाई करते रहने से बोरियत और नीरसता महसूस होने लगती है। नई जगह पर भ्रमण हेतु जाने से वातावरण बदलने से नीरसता दूर हो जाती है। अब हम तरोताजा होकर नैनीताल भ्रमण से लौटे हैं। आगे की पढ़ाई और परीक्षा की तैयारी नए जोश से करेंगे जिससे हमारा परफारमेंस बेहतर होगा।

शैक्षणिक भ्रमण पर प्रबंध निदेशक मनोज अग्रवाल ने कहा कि भारत विविधताओं से भरा देश है। यहाँ विविध संस्कृतियां और इनके अपने-अपने तौर तरीके हैं। इस सबकी जानकारी होना छात्र-छात्राओं के लिए महत्वपूर्ण है। ऐतिहासिक तथ्यों से हमें अपने देश के विभिन्न रीति-रिवाजों, कलाओं आदि की श्रेष्ठता और प्राचीनता का पता चलता है।

निदेशक डा. अमर कुमार सक्सेना ने ‘‘अथातो घुमक्कड़ जिज्ञासा‘‘ की चर्चा करते हुए कहा कि विद्यार्थी जीवन में भ्रमण ज्ञानार्जन का सबसे बेहतर तरीका है। इससे ज्ञान और स्फूर्ति के साथ-साथ स्वास्थ्य लाभ तथा मन-मस्तिष्क का शोधन भी होता है। आशा है कि अब छात्र-छात्राएं दोगुनी शक्ति से अध्ययन कर परीक्षाओं में सरलता हासिल करेंगे। शैक्षिक भ्रमण का नेतृत्व भरत गौतम ने किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *