‘आप’ विधायक देवेंद्र सहरावत ने बीजेपी ज्‍वाइन की, केजरीवाल बौखलाए

नई दिल्‍ली। बिजवासन से ‘आप’ विधायक देवेंद्र सहरावत आज बीजेपी के सदस्य बन गए। देवेंद्र ने कहा, मैं अब पाला बदल रहा हूं। विधायक होकर भी जिल्लत झेलते हुए काफी समय हो गया था।
इस तरह आज आम आदमी पार्टी (आप) का एक ओर विकेट गिर गया है। देवेंद्र सहरावत ने पहले ही कह दिया था कि आज वह बीजेपी की सदस्यता ग्रहण करने जा रहे हैं।
उन्‍होंने कहा कि लोगों से थप्पड़ खाकर हत्या करवाने वाले बयान अरविंद केजरीवाल कब तक देते रहेंगे। ‘आप’ में काम की कद्र नहीं है, तो क्या करना यहां रहकर?
देंवेद्र ने कहा, केंद्र सरकार के सहयोग से 3 हजार करोड़ रुपये का काम कराया है जबकि अपनी सरकार ने एक पैसा तक नहीं दिया। जब विपक्ष में होकर काफी काम करा लिए तो बीजेपी में जाकर तो और आसानी होगी।
देवेंद्र ने कहा कि क्षेत्र की जनता भी कह रही है कि अब ‘आप’ को छोड़ दीजिए। 3-4 साल से हम चुप थे। अब जब बूथ पर लोगों को बता रहे हैं तो जनता कह रही है कि अरविंद केजरीवाल का ध्यान ही नहीं है बिजवासन की ओर। 5-6 महीने तो सीएम के दर्शन किए हुए हो जाते हैं। हर इलाके में 4-5 लोग छोड़ दिए जाते हैं, जो विधायक का विरोध करें। अधिकारियों को कह देते हैं कि विधायकों को नजरअंदाज करो। बोर्ड लगाते हैं कि हमें काम नहीं करने देते। अरे भई, अपने नीचे वालों के साथ तो स्वराज लेकर आओ। बिजवासन में जल बोर्ड का कार्यक्रम होता है तो मुझे नहीं बुलाया जाता। केंद्रीय मंत्री रवि शंकर प्रसाद कार्यक्रम करते हैं, तो वह बुलाकर मेरा (विपक्षी विधायक) का फोटो अखबार में छपवाते हैं। अरविंद केजरीवाल की पहली सभा देहात में मुनीरका के अंदर मैंने ही करवाई थी। उस वक्त जनलोकपाल आंदोलन भी शुरू नहीं हुआ था, तब भूमि अधिग्रहण के मसले पर आवाज उठा रहे थे।
देवेंद्र ने कहा कि चुनाव के बीच में ‘आप’ ने मुद्दा बदल दिया। अब दिल्ली में पूर्ण राज्य के मुद्दे वाले बोर्ड हट गए। क्या इस पर सवाल नहीं करें? या तो खुद इससे सहमत नहीं थे? अगर आप सहमत नहीं थे तो क्यों इसे मुद्दा बनाया? यदि मुद्दा बनाया तो बीच में क्यों छोड़ दिया? साफ है कि अरविंद केजरीवाल के पास सोच की क्लिऐरिटी नहीं है।
और भी विधायक जाएंगे बीजेपी में
सुबह चर्चाएं और भी विधायकों के बीजेपी में जाने की थीं। कुछ अपुष्ट सूत्र तो इनकी संख्या तीन तक बता रहे थे। हालांकि इस बारे में कोई साफ जानकारी सामने नहीं आई थी।
गौरतलब है कि डेप्युटी सीएम मनीष सिसोदिया कह चुके हैं कि उनके 7 विधायकों को बीजेपी तोड़ने की कोशिश कर रही है। इस पर बीजेपी लीडर विजय गोयल ने कहा था कि 7 नहीं, 14 विधायक संपर्क में हैं।
‘राष्ट्रवादी कैसे हो सकता है ऐसा PM’
इस बीच अरविंद केजरीवाल ने प्रेस कॉन्फ्रेंस कर मोदी सरकार पर जमकर हमला बोला है। कहा, केंद्र सरकार ने आतंक मचा रखा है, GST के जरिए व्यापारियों में डर पैदा किया गया। केजरीवाल ने कहा, राजनीतिक विरोधियों को बीजेपी परेशान कर रही है। मुझे और मेरे नेताओं को परेशान किया जा रहा है। केजरीवाल बोले, जो प्रधानमंत्री खुलेआम यह कहे कि वह जनता द्वारा चुनी सरकार के विधायकों को खरीदकर सरकार गिरा देगा, वह राष्ट्रवादी कैसे हो सकता है?
इसके अलावा, केजरीवाल ने राफेल मुद्दे पर भी बात की। उन्होंने कहा, राफेल की दलाली का सारा पैसा विधायक खरीदने में लगा रहे है.. अब बीजेपी ही बताए कि कितने विधायक खरीद रहे हैं?
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »