आज है मि. परफेक्शनिस्ट Aamir khan का जन्मदिन

Amir-Khan
आज है मि. परफेक्शनिस्ट Aamir khan का जन्मदिन

हिंदी सिनेमा के मि. परफेक्शनिस्ट सुपरस्टार Aamir khan का आज जन्मदिन है. 14 मार्च 1965 को जन्मे आमिर का आज 52 साल के हो गए हैं.

अभी हाल ही Aamir khan की फिल्म ‘दंगल’ में उन्होंने एक हरियाणा के एथलीट के पिता का किरदार निभाया.

ये फिल्म हरियाणा की रेसलर लड़कियां गीता और बबिता और उसके पिता महावीर फोगट के जीवन पर आधारित है.

एक ही फिल्म के दो अलग अलग हिस्सों में दो बिल्कुल अलग अलग Aamir khan दिखते हैं.

 

एक में कसरती शरीर वाला पहलवान आमिर तो दूसरे में वजनी थुलथुल पेट वाला ढल चुका पहलवान आमिर.अपने किरदार में घुसने के लिए आमिर ने पहले अपना वजन बढ़ाया और फिर उसे घटाया भी. एक किरदार के लिए इतना परफेक्शन किसी में नहीं दिखता.

आमिर ने अभिनय की शुरुआत 1973 में आई फिल्म ‘यादों की बारात’ में बाल कलाकार के रूप में की थी.

90 के दशक की फिल्मों में क्यूट रोमांटिक हीरो की तरह दिखने वाले आमिर ने अपने अब तक के 30 से ज्यादा फिल्मों में हर बार अपना अंदाज बदला है.

उनके चाहने वालों के लिए उनकी हर दूसरी फिल्म का इंतजार होता है इस उम्मीद के साथ कि अगली फिल्म में वे अपने लुक के साथ कैसा प्रयोग करने वाले हैं.

साल 1988 में आई फिल्म ‘क़यामत से क़यामत तक’ आमिर की पहली ब्लॉकबस्टर फिल्म रही. इस फिल्म का गाना ‘पापा कहते हैं, बड़ा नाम करेगा’ उस समय के युवाओं के जुबान से हटती नहीं थी.
इसके बाद आमिर की 1990 में आई फिल्म ‘दिल’ में उन्हें काफी पसंद किया गया. ‘दिल’ बॉक्सऑफिस पर सुपरहिट फिल्म रही और आमिर- माधुरी की जोड़ी काफी चर्चा में रही.

आमिर के अभिनय को देखते हुए उन्हें एक के बाद एक फिल्में मिलती रहीं. 90 के दशक में आई फिल्म ‘दिल है कि मानता नहीं’ और ‘जो जीता वही सिकंदर’ के लिए उनका नाम बेस्ट फिल्मफेयर अवार्ड के नामांकन तक पहुंचा.

अभी तक आमिर कुछ-कुछ एक ही तरह की फिल्में कर रहे थे. 1994 में आई ‘अंदाज अपना-अपना’ एक बेहतरीन कॉमेडी फिल्म थी. आमिर- सलमान पहली बार इस फिल्म में साथ नजर आए थे.

इस फिल्म में आमिर का किरदार उनकी पहले की फिल्मों से अलग था. इस फिल्म में ‘अमर’ नाम के किरदार में उन्होंने दर्शकों को खूब हंसाया.
इसके बाद आमिर ने ‘रंगीला’ ‘बाज़ी’ जैसी फिल्में की. आमिर के करियर के बदलाव में सबसे अहम फिल्म ‘सरफरोश’ मानी जाती है.

इस फिल्म में उन्होंने एक आईपीएस ऑफिसर का किरदार निभाया है.  फिल्म में उनके साथ नसीरुद्दीन शाह और सोनाली बेंद्रे हैं.
1998 में आई दीपा मेहता की निर्देशित फिल्म ‘अर्थ 1947’ में आमिर ने दिल नवाज का किरदार निभाया था.

ये फिल्म भारत-पकिस्तान विभाजन पर बनी है. ये फिल्म ‘ऑस्कर अवार्ड’ के लिए भी नामांकित की गई थी. इसमें आमिर के साथ नंदिता दास भी हैं.
साल 2000 में आमिर ने हिंदी सिनेमा और अपने करियर की शानदार फिल्म ‘लगान’ में काम किया. उन्होंने इस फिल्म को प्रोड्यूस भी किया था और इस तरह ये फिल्म आमिर के प्रोडक्शन की भी शुरुआत थी.

इस फिल्म में आमिर में ‘भुवन’ नाम के एक गांव के लड़के की भूमिका निभाई है. जो अंग्रेजों से लगान माफ कराने के लिए क्रिकेट मैच खेलने का चैलेंज लेता है. इस फिल्म के लिए आमिर ने अवधी भाषा सीखी थी. यहां से आमिर के परफेक्शन में जो तेजी आई वो बाद की फिल्मों में लगातार बनी रही. आमिर अपनी फिल्मों को लेकर चूजी होते गए और उनकी फिल्में कम लेकिन बेहतरीन होने लगी.
फिल्म ‘दिल चाहता है’ में आमिर फिर से एक कूल यंग लड़के के किरदार में नजर आते हैं. और इसे साबित करते हैं कि वे हर रोल में फिट हैं.

इसके बाद ‘द-राइजिंग,मंगल पांडे में आमिर अपने बिलकुल ही बदले लुक में नजर आए. उन्होंने दाढ़ी-मूंछे बढ़ा ली थी, वजन बढ़ाया था. आमिर के मूंछों वाला लुक युवाओं में खासा पॉपुलर रहा.
इसके बाद आमिर ने ‘तारे ज़मीन पर’ फिल्म में एक टीचर का किरदार निभाया. उन्होंने ‘रंग दे बसंती’ फिल्म में काम किया. ‘फ़ना’ में उन्होंने ‘रेहान कादरी’ नाम के एक पाकिस्तानी एजेंट का किरदार निभाया जो कि इंडिया में एक गाईड बनकर रहता है.

इसके बाद 2008 में आमिर की फिल्म आई ‘गजनी’. इस फिल्म में आमिर पूरी तरह बदले हुए नजर आए. उन्होंने इस फिल्म के लिए बहुत मेहनत की थी. पहली बार आमिर सिक्स पैक में नजर आए थे.
आमिर ने फिल्म ‘थ्री इडियट्स‘ में इंजीनियरिंग की पढ़ाई कर रहे एक 23 साल के लड़के का किरदार निभाया.

उस वक्त आमिर की उम्र 40 से ऊपर थी. अपनी उम्र से आधे उम्र के लड़के की भूमिका के लिए आमिर ने बहुत मेहनत की और इस किरदार को बखूबी निभाया.
आमिर ने 2013 में फिल्म ‘धूम’ में काम किया.और 2014 में आई उनकी फिल्म ‘पीके’. ‘पीके’ भारतीय धर्मों में बने कुछ ढकोसलों के ऊपर तंज कसती हुई फिल्म थी.

इस फिल्म में आमिर ने एक ‘एलियन’ की भूमिका निभाई. वो दूसरी ग्रह से आता है और उसे यहां की हर बात अजीब लगती है. धर्म और लोगों के दोहरेपन पर बनी फिल्म में आमिर ने अपना लुक और अपने अभिनय से सबका दिल जीत लिया.
और हाल ही में फोगाट सिस्‍टर्स के पिता महावीर फोगाट के रोल में आमिर ने एक्‍सपेरीमेंट की पराकाष्‍ठा कर दी।
इस तरह लगभग 25 साल के फिल्मी करियर में Aamir khan ने अपने अभिनय से साबित किया है कि वे हिंदी सिनेमा के सबसे ज्यादा एक्सपेरिमेंट करने वाले एक्टर हैं.

-Legend News

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *