नानजिंग के बाद चीन के पांच प्रांतों में फैली कोरोना वायरस की एक नई किस्म

चीन के नानजिंग शहर से शुरू हुआ कोरोना वायरस की एक नई किस्म बीजिंग और पांच अन्य प्रांतों में फैल गई है. चीन के सरकारी मीडिया ने इसे “वुहान के बाद संक्रमण की सबसे गंभीर घटना” बताया है.
20 जुलाई को नानजिंग शहर के व्यस्त एयरपोर्ट पर कोरोना के इस प्रकार की पहचान की गई थी. उसके बाद से लगभग 200 लोग इससे संक्रमित हो चुके हैं.
चीन के अख़बार ग्लोबल टाइम्स ने एक सूत्र के हवाले से कहा है कि नानजिंग एयरपोर्ट से विमान सेवाएं 11 अगस्त तक के लिए स्थगित कर दी गई हैं.
अधिकारियों को इस नाकामी के कारण आलोचनाओं का सामना करना पड़ रहा है. हालांकि नानजिंग में व्यापक स्तर पर टेस्टिंग की प्रक्रिया भी शुरू कर दी गई है.
चीन की सरकारी समाचार एजेंसी शिनहुआ का कहना है कि शहर की 93 लाख आबादी के अलावा यहां आने वाले सभी लोगों की टेस्टिंग की जाएगी.
अधिकारियों का मानना है कि कोरोना महामारी के नए मामले इस वायरस के अत्यंत संक्रामक डेल्टा वर्जन से जुड़े हो सकते हैं.
उनका कहना है कि इसका पता व्यस्त एयरपोर्ट पर चला और इसी वजह से बाक़ी जगहों पर फैल गया. इसके लिए एयरपोर्ट प्रबंधन की आलोचना की गई है.
कम्युनिस्ट पार्टी की एक वरिष्ठ अनुशासनात्मक समिति ने कहा है कि एयरपोर्ट पर निगरानी का पूरा इंतज़ाम नहीं था और ग़ैरपेशेवराना प्रबंधन व्यवस्था अपनाई गई थी.
जांच से ये पता चला है कि नया वर्जन चीन के कम से कम 13 शहरों में फैल गया है जिसमें चेंगदु और राजधानी बीजिंग भी शामिल है.
हालांकि ग्लोबल टाइम्स ने विशेषज्ञों के हवाले से कहा है कि महामारी की पहचान शुरुआती स्तर में ही कर ली गई है और इसे रोका जा सकता है.
नानजिंग में स्थानीय प्रशासन के अधिकारियों ने बताया कि संक्रमित हुए लोगों में सात की स्थिति बेहद गंभीर है.
उधर, कोरोना संक्रमण के नए मामलों को लेकर चीन के सोशल मीडिया पर ये बहस भी शुरू हो गई है कि चीनी वैक्सीन डेल्टा वर्ज़न के ख़िलाफ़ कारगर है या नहीं.
हालांकि अभी तक ये बात साफ़ नहीं हो पाई है कि जो लोग संक्रमित हुए हैं, उन्होंने कोविड का टीका लिया था या नहीं.
दक्षिण एशिया के कई देश चीन में बनी कोविड वैक्सीन पर निर्भर कर रहे हैं.
हालांकि उनमें से कुछ देशों ने हाल ही में ये एलान किया है कि वे अन्य कंपनियों के वैक्सीन भी इस्तेमाल करेंगे.
ये कहा जाता है कि चीन अभी तक कोरोना महामारी पर काबू रखने में मोटे तौर पर कामयाब रहा है. उसने इसके लिए बोर्डर सील किए हैं और स्थानीय स्तर पर होने वाले संक्रमण को आगे फैलने से रोका है.
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *