किसानों को तोहफा, सरकार ने बढ़ाई 14 Kharif फसलों की MSP

नई दिल्‍ली। बुधवार को हुई कैबिनेट बैठक में केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार ने किसानों को बड़ा तोहफा देते हुए Kharif की 14 फसलों की एमएसपी बढ़ा दी है। बजट से पहले बुधवार को हुई मोदी कैबिनेट की बैठक में धान की एमएसपी 85 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाई गई। अब धान की एमएसपी बढ़कर 1835 रु प्रति क्विंटल हो गई। इसके अलावा मक्का, बाजरा, मूंगफली, तुर समेत 13 और अनाजों की एमएसपी बढ़ाने का फैसला लिया गया।

मोदी सरकार ने वेज कोड बिल को भी पास

केंद्र सरकार ने इस साल देशभर में 357 लाख टन गेहूं खरीद का लक्ष्य रखा है, जबकि पिछले सीजन 2018-19 में सरकारी खरीद एजेंसियों ने देशभर में 357.95 लाख टन गेहूं की खरीद की थी। एफसीआई आंकड़ों के अनुसार, पंजाब में सबसे ज्यादा 127.01 लाख टन गेहूं की खरीद हो चुकी है, जोकि केंद्र सरकार की ओर से प्रदेश में गेहूं की खरीद के लिए तय लक्ष्य 125 लाख टन से अधिक है।

मोदी सरकार 2.0 ने बुधवार को 14 Kharif फसलों का न्यूनतम खरीद मूल्य बढ़ाने का फैसला लिया है। मोदी सरकार के इस फैसले से देश के करोड़ों किसानों की आर्थिक स्थिति बेहतर होगी। केंद्रीय खाद्य प्रसंस्करण मंत्री हरसिमरत कौर बादल ने ट्वीट कर बताया कि धान की एमएसपी 65 रुपये प्रति क्विंटल और कपास की एमएसपी 105 रुपये प्रति क्विंटल बढ़ाई गई है।

हरसिमरत कौर बादल ने अपने ट्वीट में लिखा, ‘मैं प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी जी को धन्यवाद देती हूं, जिन्होंने किसानों से वादा निभाते हुए और कृषि संकट से निपटने के लिए धान की एमएसपी में 65 रुपये और कपास की एमएसपी में 105 रुपये प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की। यह फैसला लागत पर 50% लाभ सुनिश्चित करने के लिए एनडीए के संकल्प के अनुरूप है। इस बढ़ोतरी से 2022 तक कृषि आय को दोगुना करने के पीएम के लक्ष्य को पूरा करने में मदद मिलेगी।’

इन फसलों पर इतना बढ़ा एमएसपी

केंद्रीय कैबिनेट ने जिन 14 Kharif की फसलों की एमएसपी बढ़ाने की घोषणा की है, उनमें धान, कपास, अरहर दाल, तिल, उड़द दाल, सूरजमुखी और सोयाबीन भी शामिल है।

सूत्रों के अनुसार सोयाबीन की कीमत में 311 रुपये प्रति क्विंटल, सूरजमुखी की कीमत में 262 रुपए क्विंटल, तूर दाल की कीमत में 125 रुपए प्रति क्विंटल, उड़द दाल में 100 रुपए प्रति क्विंटल और तिल की कीमत में 236 रुपए प्रति क्विंटल की बढ़ोतरी की गई है।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »