योगी सरकार के 9 महीने: 921 एनकाउंटर, 31 बदमाश ढेर और 196 घायल

लखनऊ। उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने बीते 9 महीनों में 2,214 अपराधियों को जेल भेजा है। मार्च 2017 से दिसंबर 2017 के बीच के ये आंकड़े पुलिस विभाग ने प्रदेश के अलग-अलग जिलों से मंगवाए हैं। इन आंकड़ों से पता चलता है कि सबसे ज्यादा एनकाउंटर पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हुए हैं। हालांकि, यूपी पुलिस यह रिपोर्ट आधिकारिक रूप से एक-दो दिन में जारी करेगी।
विधानसभा चुनाव में बीजेपी को प्रचंड बहुमत मिलने के बाद 19 मार्च 2017 को योगी सरकार ने यूपी की सत्ता संभाली थी। उसके बाद से प्रदेश में कानून-व्यवस्था दुरुस्त करने की मुहिम शुरू की गई थी।
उत्तर प्रदेश पुलिस ने कानून-व्यवस्था नियंत्रण के लिए 20 मार्च 2017 से 31 दिसंबर 2017 के बीच 921 एनकाउंटर किए।
पुलिस और अपराधियों के बीच हुए इन एनकाउंटर्स में 31 बदमाश मारे गए जबकि 196 बदमाश घायल हुए। आंकड़ों की मानें तो इन एनकाउंटर्स में 210 पुलिसकर्मी भी घायल हुए, जबकि 3 पुलिसकर्मी शहीद हो गए।
पुलिस ने अपराध नियंत्रण के लिए सिर्फ एनकाउंटर्स ही नहीं किए बल्कि गैंगस्टर्स और दूसरे अपराधियों की संपत्तियां भी जब्त कीं। यूपी पुलिस के आंकड़ों की मानें तो इस अवधि में पुलिस ने 123 करोड़ रुपये से ज्यादा की संपत्ति जब्त की है।
पश्चिमी उत्तर प्रदेश टॉप पर
यूपी पुलिस के तैयार किए गए आंकड़ों को देखें तो सबसे ज्यादा एनकाउंटर्स पश्चिमी उत्तर प्रदेश में हुए हैं। वेस्ट यूपी में भी सबसे ज्यादा एनकाउंटर मेरठ जिले में किए गए हैं। मेरठ में 362 एनकाउंटर हुए हैं। इन मुठभेड़ों के दौरान 19 बदमाश मारे गए। वहीं दूसरे नंबर पर आगरा जिला है। मेरठ और आगरा के आंकड़ों में लगभग आधे का अंतर है। आगरा में 178 एनकाउंटर हुए और यहां 3 बदमाश मारे गए।
आंकड़े-
एनकाउंटर्सः 921
एनकाउंटर्स के बाद गिरफ्तारीः 2214
घायल हुए बदमाशः 196
मारे गए बदमाशः 31
घायल हुए पुलिसकर्मीः 210
मारे गए पुलिसकर्मीः 03
इनामी बदमाशः 1688
रासुका वाले बदमाशः 112
-एजेंसी