इंडियन एयरफोर्स का 88वां स्‍थापना दिवस आज, हिंडन एयरबेस के आसमान में राफेल ने दिखाए करतब

नई दिल्‍ली। इंडियन एयरफोर्स के 88वें स्थापना दिवस पर आज हिंडन एयरबेस के आसमान में राफेल लड़ाकू विमानों ने करतब दिखाए। 4.5 पीढ़ी के लड़ाकू विमान राफेल 29 जुलाई को भारत की सरजमीं पर उतरे थे। परमाणु हमला करने में सक्षम और कई घातक हथियारों से लैस राफेल के भारतीय वायुसेना में शामिल होने के बाद देश को दुश्मनों पर बढ़त मिल गई है।
हिंडन एयरबेस पर दो राफेल विमानों ने हवा में फ्लाईपास्ट किया। शान से दहाड़ते, दुश्मनों को चेतावनी देते और हवा में गोते लगाते हुए राफेल कब नजारों से ओझल हो गए, यह पता ही नहीं लगा।
गौरतलब है कि वास्तविक नियंत्रण रेखा (LAC) पर पिछले 5 महीने से भारत और चीन में तनातनी चल रही है। राफेल ने लेह में भी उड़ान भरी थी।
राफेल के आने से भारतीय वायुसेना को पाकिस्तान और चीन पर बड़ी बढ़त मिल गई है। भारत ने फ्रांस से 36 राफेल विमान खरीदे हैं, जिनमें से 30 विमान लड़ाकू जबकि छह प्रशिक्षक विमान है। पहाड़ी इलाकों में और लद्दाख जैसे मुश्किल हालात में राफेल और भी घातक साबित होता है। 29 जुलाई को 5 राफेल जेट भारत पहुंचे थे।
पाकिस्तान और चीन को हुई टेंशन
राफेल लड़ाकू विमान एकसाथ कई लक्ष्यों पर निशाना साध सकता है। इस विमान के आने से चीन और पाकिस्तान की टेंशन बढ़ गई है। चीन पांचवी पीढ़ी का J-20 विमान होने का दावा तो करता है लेकिन उसकी क्षमता अभी परखी नहीं गई है जबकि राफेल विमान पूरी दुनिया में अपनी विध्वंसक क्षमता को साबित कर चुकी है।
-एजेंसियां

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *