कार खरीदने की बजाय कैब को प्राथमिकता देते हैं 86 percent लोग

नई दिल्‍ली। हालिया अध्ययन में यह बात सामने आई है कि 86 percent लोग कार खरीदने की बजाय कैब को प्राथमिकता दे रहे हैं।

कारों के कई संभावित खरीदार कार खरीदने के अपने फैसले को इसलिए टाल रहे हैं, क्योंकि वे यात्रा के लिए रेडियो कैब या ऑनलाइन कैब प्रदाता कंपनियों (कैब एग्रीगेटर) को ज्यादा आरामदेह तथा सस्ते विकल्प के रूप में देखते हैं। ।

कांतर मिलवार्ड ब्राउन द्वारा किए गए अध्ययन के मुताबिक, कारों के लगभग 72 फीसदी संभावित खरीदारों ने कार खरीदने के अपने फैसले को टाल दिया है, 88 फीसदी संभावित खरीदारों को लगता है कि कार खरीदने से सस्ता है कैब एग्रीगेटर का इस्तेमाल, जबकि 86 फीसदी संभावित खरीदारों को लगता है कि कैब ज्यादा आरामदेह हैं। इस अध्ययन में 1,000 से अधिक प्रतिभागियों ने हिस्सा लिया।

अध्ययन में दिल्ली, मंबई, बंगलूरू तथा टीयर2 शहरों जैसे नागपुर, जयपुर व कोयम्बटूर में प्रतिभागियों की प्रतिक्रिया ली गई। सभी प्रतिभागी या तो कार के मालिक थे या अगले छह महीने में कार खरीदने की योजना बना रहे थे।

73 फीसदी नहीं करते अपनी गाड़ी से यात्रा

अध्ययन के निष्कर्षों के मुताबिक, 73 फीसदी उपभोक्ताओं ने महसूस किया कि अपनी कार से दूर की यात्रा करने में कमी आई है, जिसके कारण लगभग 65 फीसदी प्रतिभागियों के कारों की सर्विसिंग की संख्या में गिरावट आई है। इसके अलावा, 73 फीसदी प्रतिभागियों ने महसूस किया है कि कार की सर्विसिंग की लागत में भी गिरावट आई है।

सहूलियत ले रही हैसियत की जगह
कांतर मिलवार्ड ब्राउन के एक्जीक्यूटिव वाइस प्रेसिडेंट आनंद परमेश्वरन ने कहा कि ऐसा लगता है कि कैब एग्रीगेटर सेवाएं ऑटोमोटिव श्रेणी को इच्छा से बदलकर एक वस्तु में तब्दील कर रही हैं। उन्होंने कहा कि एग्रीगेटर द्वारा दिए जाने वाले लाभ के कारण स्टेटस के रूप में जानी जाने वाली एक श्रेणी सहूलियत में तब्दील हो रही है।

परमेश्वरन ने कहा कि ये लाभ उपभोक्ताओं को अपनी कार की जगह एग्रीगेटर का चुनाव करने में मदद कर रहे हैं। वाहन निर्माता कारों की मांग, कार रखने की चाहत, कार रखने की हैसियत तथा ड्राइविंग के प्रति लोगों के अंदर इच्छा जगाने से मिलने वाले लाभ पर अब अपना ध्यान केंद्रित नहीं कर सकते।

आराम तथा सहूलियत को प्राथमिकता
अध्ययन के मुताबिक, 59 फीसदी प्रतिभागियों के लिए कैब का चयन करने में आराम तथा सहूलियत मायने रखता है। लगभग 66 फीसदी प्रतिभागियों को यह भी लगता है कि एग्रीगेटर कैब की सेवा नियमित कैब की तुलना में बेहतर होती है, जिससे उनकी लंबी दूरी की यात्रा भी बेहद आरामदेह हो जाती है।

परमेश्वरन ने कहा कि ऐसा लगता है कि एग्रीगेटर कैब के उदय से उपभोक्ताओं ने खुद ड्राइव करने का एक विकल्प तलाश लिया है। सड़कों पर भीड़-भाड़, पार्किंग की जगह मिलने में असुविधा के चलते 86 percent उपभोक्ता ड्राइव करने के आनंद की तुलना में सहूलियत को महत्ता दे रहे हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »