भारतीय सरकारी बैंकों की विदेशों में स्‍थित 70 Branches बंद होंगी

नई दिल्ली। साल 2018 में ही भारतीय सरकारी बैंक विदेशों की अपनी 70 Branches बंद करे देंगे। भारतीय सरकारी बैंकों की इस समय विदेशों में कुल 216 Branches मौजूद हैं जिनमें से 70 Branches बंद होने जा रही हैं। इसके अलावा बैंकों द्वारा इन 70 शाखाओं के साथ साथ विदेशों में इन बैंकों की दूसरी सेवाएं भी बंद किए जाने की योजना बनाई गई है।

वित्त मंत्रालय के वरिष्ठ अधिकारियों ने बताया कि विदेशों में बंद की जा रही Branches में भारतीय स्टेट बैंक, पंजाब नेशनल बैंक, इंडियन ओवरसीज बैंक, आईडीबीआई बैंक और बैंक ऑफ इंडिया ने विदेशों की अपनी शाखाओं में भी भारी कटौती करने की योजना बना रहे हैं।

विदेशों में जो शाखाऐं लाभ की स्‍थिति में हैं उन्हें छोड़कर खाड़ी देशों में जैसे ओमान और दुबई स्थित शाखाओं को भी बंद किए जाने की योजना बनाई जा रही है।

बैंक यह कदम खर्चों को कम करने और पूंजी बचाने के लिए कर रहा है। खाड़ी के देशों में भी ये बैंक उन ब्रांचों को बंद करेंगी जिनसे पर्याप्त राजस्व हासिल नहीं हो रहा है।

सूत्रों के मुताबिक कई बैंक इससे पहले दुबई, जेद्दाह, शंघाई, हांग कांग, आदि जगहों पर स्थित शाखाएं बंद कर चुके हैं। भारतीय स्टेट बैंक भी छह विदेशी शाखाओं को बंद कर चुका है। जबकि श्री लंका और फ्रांस में स्थित शाखाओं को प्रतिनिधि शाखा के तौर पर बदला जा रहा है। इन्हें मिलाकर सरकारी बैंकों की अब तक 37 विदेशी शाखाएं बंद की जा चुकी हैं। कई बैंक अपनी शाखाओं का आपस में विलय करने की योजना पर भी काम कर रहे हैं। इससे बैंकों को अपनी आर्थिक स्थिति सुधारने में मदद मिलेगी।

अधिकारी ने बताया कि इन बैंकों के ब्रांच ने अपनी गैर मूल संपत्तियां बेचनी शुरू कर दी हैं। इसके साथ ही इन ब्रांच को कहा गया है कि अपने खर्चों को कम करें। खबर है कि अभी तक 37 ओवरसीज ब्रांच बंद किए जा चुके हैं वहीं 60-70 ब्रांच इस साल तक बंद कर दिए जाएंगे। अधिकारी ने बताया कि बंद किए जा रहे ब्रांच पूरी तरह से काम कर रहे थे इन ब्रांच में बैंक, रिप्रेजेंटेटिव ऑफिर और रेमिटेंस ऑफिस भी हैं।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »