कॉरपोरेट जगत की इन 7 हस्तियों ने स्वीकारी अपने Gay होने की बात

नई दिल्‍ली। आज सुप्रीम कोर्ट ने खत्‍म की धारा 377 को खत्‍म करते हुए इसे यानि Gay होने व सहमति से Homosexual relationship को अपराध की कैटेगरी से हटा दिया है, इसके बाद देश में अब इसके ऊपर चलनेवाली बहसों को भी विराम लग जाएगा। इसी संदर्भ में हम आपको बताने जा रहे हैं ऐसी ही इंटरनेशनल कॉरपोरेट जगत की इन 7 हस्तियों के बारे में जिन्‍होंने सार्वजनिक रूप से अपने Gay होने की बात को स्‍वीकारा।

भारत दुनिया का पहला देश नहीं जहां समलैंगिकता अपराध नहीं है। दुनियाभर में इस विषय पर चर्चा होती है। दुनियाभर में Gay कम्युनिटी से जुड़े लोग इसे अपना अधिकार मानते हैं। खुशी जाहिर करते हैं, उनकी भावनाओं से यह जुड़ा है। बिजनेस वर्ल्ड भी इससे अछूता नहीं है। कई दिग्गज कंपनी के सीईओ खुलेआम इस पर गर्व महसूस कर चुके हैं। यहां तक की दुनिया की सबसे बड़ी कंपनी एप्पल भी सार्वजनिक रूप से समलैंगिक अधिकार और उनकी भावनाओं की कद्र करती है। ऐसे ही कुछ टॉप कंपनी के सीईओ भी हैं, जिन्होंने अपने Gay होने की बात सार्वजनिक रूप से स्वीकार की।

टिम कुक, एप्पल
दुनिया की सबसे वैल्युबल कंपनी और सबसे बड़ी मार्केट कैप रखने वाली कंपनी ‘एप्पल’ के सीईओ टिम कुक ने अपने ‘गे’ होने की बात स्वीकारी है। इतना ही नहीं कुक ने दुनिया भर में चल रही समलैंगिकों की समानता की लड़ाई में अपना योगदान देने की भी बात कही है। उन्होंने यह भी कहा कि मुझे ‘गे’ होने पर गर्व है। कुक ने यह बात ब्लूमबर्ग बिजनेसवीक में प्रकाशित एक लेख में कही. अमेरिका के 57 वर्षीय कुक ने लिखा, ‘मैंने कभी भी इसे छिपाया नहीं है, लेकिन अब तक मैंने इसे सार्वजनिक तौर पर स्वीकार भी नहीं किया। इसलिये मैं स्पष्ट करना चाहता हूं, मुझे समलैंगिक होने पर गर्व है और समलैंगिक होना मैं भगवान की तरफ से मुझे दिया गया सबसे बड़ा उपहार मानता हूं।’

लीवाइस के ग्लोबल प्रेसिडेंट रॉबर्ट हैनसन

गारमेंट इंडस्ट्री की बड़ी कंपनियों में शुमार लीवाइस (Levi’s) के ग्लोबल प्रेसिडेंट (सेल्स) और अमेरिकन ईगल आउटफिटर्स के सीईओ रह चुके रॉबर्ट हैनसन फिलहाल एक लग्जरी ज्वेलरी कंपनी जॉन हार्डी चलाते हैं। उन्होंने अपनी सेक्सुअलिटी पर कुछ समय पहले लिखा था, वह जब तक बिजनेस वर्ल्ड से जुड़े रहे उन्होंने सार्वजनिक रूप से गे होने की बात स्वीकारी। यही वजह था कि गे सीईओ होने के नाते वह अपने वर्कप्लेस पर गे और लेसबियन के खिलाफ भेदभाव से लड़ने में मदद करते रहे।

लॉर्ड ब्राउन

बीबीसी के मुताबिक लॉर्ड बाउन ब्रिटिश पेट्रोलियम के प्रमुख थे। उन्होंने ब्रिटिश टैबलेट द मेल में छपे में एक लेख के बाद अचानक इस्तीफा दे दिया था। द मेल ने उनके एक जिगोलो के साथ रिश्ते का खुलासा किया था। एक किताब में लॉर्ड ब्राउन ने अपने समलैंगिक कार्यकारी के अनुभव को लिखा, ब्राउन के मुताबिक वह एक जवान लड़के साथ रिश्तों को लेकर काफी भयभीत थे। इसलिए उन्होंने इसे खुलेतौर पर नहीं माना।

ट्रेवर बर्गेस

आउट लीडरशिप के मुताबिक ट्रेवर बर्गेस फ्लोरिडा के इन्वेस्टमेंट बैंक C1 फाइनेंशियल के सीईओ हैं। उन्होंने अपने गे होने की बात सार्वजनिक रूप से स्वीकारी है. वह अकेले गे सीईओ हैं, जिनका बैंक न्यूयॉर्क स्टॉक एक्सचेंज में लिस्ट है।

क्रिस्टोफर बेली

प्रतिष्ठित ब्रिटिश फैशन ब्रांड बरबेरी (Burberry) के सीईओ और सीसीओ क्रिस्टोफर बेली ने मई 2014 में नेतृत्व संभाला था। उनकी कंपनी FTSE(फाइनेंशियल टाइम्स स्टॉक एक्सचेंज) की 100 कंपनियों में शामिल है। यह 100 कंपनियां लंदन स्टॉक एक्सचेंज में सूचीबद्ध हैं। क्रिस्टोफर बेली ने पहले ऐसे सीईओ हैं जिन्होंने अपने Gay होने की बात स्वीकारी थी। उनकी कंपनी लंदन स्टॉक एक्सचेंज की लिस्टेड कंपनियों में मार्केट कैप से लिहाज से सबसे बड़ी कंपनी है।

पे-पल के फाउंडर पीटर थील

पीटर एनड्रियस थील एक अमेरिकन आंत्रप्रिन्योर, वेंचर कैपिटलिस्ट, फिलान्थोरोपिस्ट, पॉलिटिकल एक्टिविस्ट और ऑथर हैं। वह पे-पल के को-फाउंडर रह चुके हैं, जिसे उन्होंने एलन मस्क और मैक्स लेवचिन के साथ शुरू किया था। वह फेसबुक के संस्थागत निवेशक भी हैं। इसके अलावा भी वह कई टेक्नोलॉजी कंपनियों में को-फाउंडर और निवेशक के रूप में जुड़े हैं। सीएनबीसी को दिए एक इंटरव्यू के दौरान उन्होंने कहा था कि कई ऐसे सीईओ हैं जो सार्वजनिक रूप से अपने गे होने की बात नहीं स्वीकार सकते लेकिन उन्होंने गे होने की बात स्वीकार की थी।

गोल्ड स्टेट वैरियर्स के प्रेसिडेंट रिक वेल्ट्स

रिक वेल्ट्स गोल्डन स्टेट वैरियर्स के प्रेसिडेंट और सीओओ हैं। वेल्ट्स पुरुषों की पेशेवर टीम में सबसे ज्यादा रैंकिंग वाले एग्जिक्यूटिव हैं, जो सार्वजनिक रूप से स्वीकार करते हैं कि वह गे हैं। वेल्ट ने पहली बार 2011 में एक इंटरव्यू के दौरान इस बात को स्वीकार किया था।

-एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »