68% भारतीय महिलाओं में Vitamin D की कमी

बदलती जीवनशैली के चलते हम कुदरत से मिले उपहारों का लाभ भी नहीं उठा पा रहे हैं। पर्याप्त धूप नहीं लेने की वजह से हम Vitamin D की कमी के शिकार होते जा रहे हैं और इसकी पूर्ति के लिए दवाओं पर निर्भर हो रहे हैं जबकि कई शोध में दावा किया गया है कि Vitamin D सप्लीमेंट लेने का कोई फायदा नहीं है।
सप्लीमेंट लेने से हड्डियों के फ्रैक्चर का खतरा भी कम नहीं हो पाता और न ही इससे शरीर में Vitamin D की कमी पूरी होती है। अगर पर्याप्त मात्रा में धूप और सही खानपान लिया जाए तो यह कमी अपने आप ही दूर हो जाएगी।
एसोचैम के मुताबिक 88% दिल्लीवासी विटामिन डी की कमी से ग्रसित 
68% भारतीय महिलाओं में विटामिन डी की कमी
5.5% भारतीय महिलाओं में ही विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में
कैलिफोर्निया के टॉरो विश्वविद्यालय ने 2017 में अध्ययन में पाया था कि दुनिया में बड़ी संख्या में लोगों ने बाहर समय बिताना छोड़ दिया है। अगर वे बाहर जाते भी हैं तो सनस्क्रीन का इस्तेमाल करते हैं। इसी वजह से विटामिन डी की कमी पाई जा रही है।
इन लक्षणों को न करें नजरअंदाज
थकान
हड्डियों में दर्द
घाव का देर से भरना
बाल झड़ना
लंबी बीमारी
मांसपेशियों में दर्द
जल्दी से बीमार पड़ जाना
तनाव होना
गंभीर बीमारियों का खतरा
हड्डियों के बार—बार फ्रैक्चर होने की आशंका
मोटापा बढ़ना, तनाव व अवसाद की स्थिति
अल्जाइमर जैसी गंभीर बीमारी
कई तरह के कैंसर का खतरा भी बढ़ जाता है
इलाज आपके पास
हर रोज कम से कम 20 मिनट धूप जरूर लें
दूध और उससे बने उत्पाद में विटामिन डी पर्याप्त मात्रा में होता है। संतरे का सेवन करें।
अंडे को जर्दी के साथ खाने से विटामिन डी की कमी पूरी होती है। मशरूम खाएं।
सालमोन और टूना जैसी मछलियों में कैल्शियम के साथ विटामिन डी भी काफी होता है।
-एजेंसियां

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »