GL Bajaj ग्रुप ने उन्नत भारत अभियान के तहत पांच गांव गोद लिए

मथुरा। भारत सरकार के मानव संसाधन विकास मंत्रालय द्वारा चलाये जा रहे उन्नत भारत अभियान को गति देने के लिए GL Bajaj ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस ने मथुरा जनपद के पांच गांवों को गोद लिया है। गांवों के सम्पूर्ण विकास के लिए GL Bajaj संस्थान के छात्र-छात्राएं नियमित रूप से चयनित गांवों में पहुंचकर ग्रामीणों को सरकार की योजनाओं की जानकारी से अवगत करा रहे हैं।

जी.एल. बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस ने शिक्षा के साथ-साथ ग्रामीण विकास में सहभागिता के लिए कमर कस ली है। भारत सरकार के उन्नत भारत अभियान को मूर्तरूप देने के लिए संस्थान ने मथुरा जनपद के चौमुंहा एवं नौहझील ब्लाक के पांच गांवों को गोद लिया है। संस्थान अपने विभिन्न संकाय के शिक्षकों एवं छात्र-छात्राओं को चयनित गांवों में भेजकर वहां की मूलभूत समस्याओं से न केवल अवगत हो रहा है बल्कि इसकी जानकारी जिला प्रशासन को भेजकर ग्राम विकास योजना में अपना अमूल्य योगदान दे रहा है।

जी.एल. बजाज ग्रुप द्वारा गोद लिए गांवों में कोकेरा, सिहाना, भझेड़ा, शिवाल (चैमुंहा ब्लाक) तथा बासैठ (नौहझील ब्लाक) शामिल हैं। गांवों में आधारभूत परिवर्तन लाने के लिए संस्थान के प्राध्यापक और छात्र-छात्राएं हर सप्ताह इन गांवों में पहुंच कर ग्रामीणों को न केवल जागरूक कर रहे हैं बल्कि उन्हें उन्नत भारत अभियान में मिलने वाली सुविधाओं से भी अवगत करा रहे हैं। सरकार द्वारा चलाये गये इस उपक्रम में उन्नत भारत अभियान के संयोजक आर्किटेक्ट योगेश यादव तथा उनके सहयोगी प्रो.संचय गोयल, प्रो. गोपाल कृष्ण वार्ष्णेय तथा कालेज के छात्र-छात्राएं अपना अभूतपूर्व योगदान दे रहे हैं।

संस्थान के निदेशक डा. एल.के. त्यागी का कहना है कि जी.एल. बजाज ग्रुप आफ इंस्टीट्यूशंस शिक्षा के साथ ही सामाजिक सरोकारों से भी वास्ता रखता है। संस्थान जिला प्रशासन के सहयोग से गोद लिए गांवों में विकास की अलख जगाने को प्रतिबद्ध है। डा. त्यागी का कहना है कि शिक्षित भारत, स्वच्छ भारत, स्वस्थ भारत, स्वावलम्बी भारत और सम्पन्न भारत की संकल्पना सिर्फ सरकार के प्रयासों से ही सम्भव नहीं है। दरअसल, गांवों का सम्पूर्ण विकास सभी के साझा प्रयासों से ही सम्भव है।

आर.के. एज्यूकेशन हब के चेयरमैन डा. रामकिशोर अग्रवाल का कहना है कि जी.एल. बजाज ग्रुप ने ग्रामीणों की सेवाभाव का जो काम हाथ में लिया है, वह सराहनीय है क्योंकि गांवों के विकास से ही देश का विकास सम्भव है।

50% LikesVS
50% Dislikes

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *