MI-17 हेलीकॉप्टर हादसे में 5 सैन्य अधिकारी दोषी करार

नई द‍िल्ली। मध्य कश्मीर के बड़गाम जिले में 27 फरवरी को भारतीय वायु सेना (आईएएफ ) का MI-17  हेलीकॉप्टर क्रैश हो गया था। इस दौरान घटनास्थल से स्थानीय लोगों को एक पिस्टल बरामद हुई थी। लोगों ने उसे पुलिस के हवाले कर दिया था।

गौरतलब है कि 27 फरवरी को श्रीनगर में हुई MI-17 हेलिकॉप्टर दुर्घटना के लिए भारतीय वायु सेना के पांच अधिकरियों को दोषी पाया गया है। इस दिन श्रीनगर स्थित 154 हेलीकॉप्टर यूनिट का एक Mi-17 वीएफ क्रैश हो गया था। इस हादसे में एक ग्रुप कैप्टन, दो विंग कमांडर और दो फ्लाइट लेफ्टिनेंट सहित छह लोगों की मौत हो गई थी। कोर्ट ऑफ इंक्वायरी में दोषी ठहराए गए इन पांच अधिकारियों को इस पूरे हादसे के दौरान लापरवाही और सही प्रक्रियाओं का पालन नहीं करने सहित कई आरोपों का दोषी पाया गया है।

श्रीनगर हेलिकॉप्टर हादसे की जांच में क्या आया सामने
इस पूरे हादसे की जांच में सामने आया है कि श्रीनगर के अधिकारी राज्य की सुरक्षा की जिम्मेदारी संभाल रहे थे। इस दौरान अधिकारियों ने बताया है कि जब चॉपर वापस कर रहा था, तो इस दौरान उन्होंने समझा की सामने से एक मिसाइल आ रही है। इसके चलते ये हादसा हुआ। यानी ये साफ हो गया है कि श्रीनगर का एमआई 17 वीएफ क्रैश होने के दौरान लापरवाही बरती गई थी।

दोषियों को मिले कड़ी सजा
श्रीनगर हेलिकॉप्टर दुर्घटना के दोषियों का नाम सामने आने के बाद वायु सेना और सरकार के शीर्ष अधिकारियों का मानना है कि दोषी पाए जाने वाले कर्मियों को कड़ी से कड़ी सजा दी जानी चाहिए।

Mi-17 हेलीकॉप्टर कब और कैसा हुआ था क्रैश
26 फरवरी 2019 को बालाकोट एयर स्ट्राइक (Air Strike) के बाद 27 फरवरी को पाकिस्तान ने हवाई हमले की कोशिश की थी और उसी दिन वायुसेना का हेलीकॉप्टर जम्मू-कश्मीर के श्रीनगर के नजदीक बडगाम में दुर्घटनाग्रस्त हो गया था। इसमें वायुसेना के 6 जवानों और एक आम नागरिक की मौत हो गई थी। इस दौरान ये बात सामने आई थी कि हेलीकॉप्टर पर श्रीनगर में तैनात वायुसेना के ही एयर डिफेंस सिस्टम स्पाइडर ने गलती से वॉर कर दिया था।

उसी दिन दिखायी भी अभिनंदन ने जबदरस्त बहादुरी
26 फरवरी को बालाकोट एयरस्ट्राइक का बदला लेने के लिए पाकिस्तानी फाइटर जेट ने भारतीय सीमा में घुसपैठ की तो भारतीय वायुसेना ने उन्हें खदेड़ दिया। इस दौरान विंग कमांडर अभिनंदन वर्द्धमान ने पाकिस्तानी जेट का पीछा किया और आसमान में काफी देर तक पाकिस्तानी जेट के साथ उनकी लड़ाई चलती रही। जिस जगह हेलिकॉप्टर क्रैश हुआ था उससे करीब 100 किमी दूर यह सब हो रहा था। अभिनंदन ने एक पाकिस्तानी एफ16 विमान को मार गिराया, जबकि इस दौरान उनका मिग 21वायसन विमान क्रैश हो गया और विंग कमांडर अभिनंदन पाकिस्तान के कब्जे में चले गए। हालांकि, पाकिस्तान की गिरफ्त में आने के बावजूद उन्होंने जबरदस्त बहादुरी दिखायी और आखिरकार पाकिस्तान को भी उन्हें भारत वापस भेजना पड़ा।

जब हेलीकॉप्टर दुर्घटनाग्रस्त हुआ तो उस दौरान पूर्व एयर कमांडर एयर मार्शल हरि कुमार ऑपरेशन का नेतृत्व कर रहे थे। अधिकारियों पर लापरवाही बरतने और सही प्रक्रिया का पालन न करने का आरोपी पाया गया है।

– एजेंसी

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »